16 February 2019



खेलकूद
विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप में मैरीकोम को सातवीं वरीयता
12-05-2012

नई दिल्ली। भारत की पांच बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकोम को चीन के किनहुआंगदाओ में विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप के ड्रा में सातवीं वरीयता और पहले दौर में बाई मिली। यह टूर्नामेंट लंदन ओलंपिक खेलों की महिला मुक्केबाजी स्पर्धा की एकमात्र क्वालीफाइंग प्रतियोगिता है। ओलंपिक की महिला मुक्केबाजी स्पर्धा तीन वजन वर्गों 51 किग्रा, 60 किग्रा और 75 किग्रा में होगी और कल से शुरू होने वाली विश्व चैंपियनशिप में 24 कोटा स्थान [प्रत्येक वजन वर्ग में आठ] दांव पर होंगे। पिछले महीने एशियाई चैंपियन बनी मैरीकोम अपने अभियान की शुरुआत रविवार को करेंगी। उन्होंने एशियाई चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता जापान की अयाको मिनोवा और यूनान की एथिना मालेफाकी के बीच होने वाले पहले दौर की विजेता का सामना करना होगा। मैरीकोम के फ्लाइवेट वर्ग में 55 मुक्केबाज प्रतिस्पर्धा पेश कर रहे हैं जिसमें एशिया सिर्फ दो ओलंपिक स्थान हासिल कर सकता है। साठ किग्रा वर्ग में 58 मुक्केबाज मैदान में हैं। भारत की एल सरिता देवी इस वर्ग में अपने अभियान की शुरुआत शनिवार को अजरबैजान की एजानत हाजिएवा के खिलाफ करेगी। इसी दिन पूजा रानी [75 किग्रा] को अमेरिका की क्लारेसा शील्ड्स का सामना करना है। पहले दौर के अन्य मुकाबलों में भारत की के मंदाकिनी [57 किग्रा] को सर्बिया की बो जाना रानिक का सामना करना है जबकि नीतू चाहल [69 किग्रा] हंगरी की बियांका नागी से भिड़ेंगी। इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में 70 देशों की 305 मुक्केबाज हिस्सा ले रही हैं।