24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
अब उत्तर कोरिया की इस हरकत को बर्दास्तप नहीं करेगे….
14-05-2012

बीजिंग| चीन, जापान एवं दक्षिण कोरिया ने चेतावनी दी है कि वे उत्तर कोरिया द्वारा किए जाने वाले किसी नए परमाणु परीक्षण को स्वीकार नहीं करेंगे। समाचार एजेंसी 'आरआईए नोवोस्ती' के मुताबिक दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ली म्यंग बक ने रविवार को कहा, "हम तीन देश इस बात पर सहमत हुए हैं कि उत्तर कोरिया द्वारा भविष्य में किए जाने वाले परमाणु परीक्षणों अथवा उकसावे को स्वीकार नहीं करेंगे।"समाचार एजेंसी के मुताबिक ली ने एक दिन के सम्मेलन में चीन के प्रधानमंत्री वेन जियाबाओ और जापान के प्रधानमंत्री योशिहिको नोडा से मुलाकात की। सम्मेलन के एजेंडे में उत्तर कोरिया के परमाणु एवं रॉकेट कार्यक्रम छाए रहे। वेन ने कहा कि तीनों देशों का लक्ष्य कोरियाई प्रायद्वीप में तनावों को दूर करना एवं बातचीत पर लौटना है।ज्ञात हो कि उत्तर कोरिया ने एक महीने पहले अपने लम्बी दूरी के रॉकेट का असफल प्रक्षेपण किया। इसके बाद यह सम्मेलन आयोजित हुआ है। रॉकेट हालांकि, छोड़े जाने के तुरंत बाद ही गिर गया था लेकिन उसके इस प्रक्षेपण की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर निंदा हुई।उत्तर कोरिया ने रॉकेट का प्रक्षेपण कर संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को तोड़ा। प्योंगयांग पर प्रतिबंध इस आशंका के चलते लगाए गए हैं कि वह परमाणु सामग्री ले जाने में सक्षम मिसाइल के विकास में प्रक्षेपणों का इस्तेमाल कर सकता है।कुछ मीडिया रपटों में कहा गया है कि उत्तर कोरिया अपने तीसरे भूमिगत परमाणु परीक्षण की तैयारी कर रहा है। उपग्रह की तस्वीरों में देश के पूर्वोत्तर क्षेत्र में एक नए सुरंग को खोदते हुए दिखाया गया है।