19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
दलाई-कैमरन मुलाकात पर चीन ने दिखाई नाराजगी
16-05-2012

बीजिंग। चीन ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन की तिब्बतियों के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा से मुलाकात को देश के अंदरूनी मामलों में गंभीर हस्तक्षेप और चीन की जनता का अपमान बताया है। इस बात को लेकर ब्रिटिश दूतावास के सामने उसने कड़ा विरोध भी दर्ज कराया है।चीन के विदेश मंत्रालय का यह बयान ऐसे समय में आया जब लंदन में वर्ष 2012 का टेंपलेटन पुरस्कार लेने गए दलाई लामा ने कैमरन से निजी मुलाकात की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता होंग लेई ने कहा कि यह चीन के आंतरिक मामलों में गंभीर दखलअंदाजी है। यह चीन की जनता का अपमान है। लेई ने कहा कि यह चीन और ब्रिटेन के संबंधों को नजरअंदाज करने वाला भी है। प्रवक्ता ने कहा कि चीन ने कैमरन और दलाई लामा की मुलाकात को लेकर बींङ्क्षजग स्थित ब्रिटिश दूतावास के सामने आधिकारिक विरोध दर्ज कराया है। हालांकि कैमरन और उप प्रधानमंत्री निक क्लेग के साथ निर्वासित जीवन बिता रहे नोबल पुरस्कार से सम्मानित दलाई लामा की मुलाकात को निजीबताया गया और यह मुलाकात प्रधानमंत्री के सरकारी आवास-10 डाउङ्क्षनग स्ट्रीट-में नहीं हुई थी। दलाई लामा 18 लाख डॉलर का टेंपलेटन पुरस्कार लेने के लिए लंदन गए थे।