18 February 2019



खेलकूद
ओलंपिक में जगह बनाने के करीब मैरीकोम
16-05-2012

नई दिल्ली। भारत की स्टार मुक्केबाज एमसी मैरीकोम [51 किग्रा] ने शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए चीन के किनहुआंगदाओ में चल रही विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश के साथ ओलंपिक में जगह बनाने की ओर पदक बढ़ाए। एल सरिता देवी को हालांकि शिकस्त का सामना करना पड़ा और उनका ओलंपिक का सफल अब अन्य मुकाबलों पर निर्भर करता है। मैरीकोम ने नार्वे की मेरिएली हेनसेन को 18-6 से हराकर महिला मुक्केबाजों के पहले और एकमात्र ओलंपिक क्वालीफाइंग प्रतियोगिता के अंतिम आठ में जगह बना ली है। लंदन में ओलंपिक में सिर्फ 51 किग्रा, 60 किग्रा और 75 किग्रा वर्ग की महिला मुक्केबाजों को ही पदार्पण का मौका मिलेगा। मैरीकोम के वर्ग में एशियाई के लिए दो कोटा स्थान उपलब्ध है। अब तक तीन एशियाई खिलाड़ियों ने अंतिम आठ में जगह बनाई है। मैरीकोम के अलावा एशियाई खेलों की चैंपियन रेन कानकन और उत्तर कोरिया की हाए किम ने क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया है। अन्य दो मुक्केबाज अगर बुधवार को हार जाती हैं और मैरीकोम इंग्लैंड की दुनिया की दूसरे नंबर की खिलाड़ी निकोला एडम्स को हरा देती हैं तो इस भारतीय मुक्केबाजी को ओलंपिक टिकट मिल जाएगा। मैकरीकोम ने किनहुआंगदाओ से प्रेट्र को कहा, 'यह अच्छा मुकाबला था। मुक्कों के संयोजन को लेकर मैंने सभी परीक्षण किए।' मैरीकोम ने कहा, 'मेरी आज की विरोधी मुझसे लंबी थी और उसके मुक्के सटीक थे। उसकी तकनीक काफी अच्छी थी इसलिए मुझे बेहतर खेल दिखाना पड़ा।' सरिता को हालांकि 60 किग्रा वर्ग में इंग्लैंड की नताशा जोनास के हाथों 22.25 से शिकस्त झेलनी पड़ी। ओलंपिक से अलग वर्गों में लाइट फ्लाइवेट [48 किग्रा] में पिंकी जांगड़ा ने रोमानिया की लिडिया इयोन को 26.16 से हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। पिंकी को अंतिम आठ के मुकाबले में रूस की दुनिया की दूसरे नंबर की खिलाड़ी स्वेतलाना ज्नेवानोवा का सामना करना है।