19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
ब्रिटेन में भारतीय दंपती को आव्रजन घोटाले में सजा
17-05-2012

लंदन। ब्रिटेन में एक भारतीय नागरिक को आव्रजन घोटाला करने के आरोप में 10 साल जेल की सजा सुनाई गई है। विजय सोर्थिया नाम के व्यक्ति पर अपनी पत्नी के साथ मिलकर कई भारतीय नागरिकों तथा अन्य को ब्रिटेन में अवैध तरीके से रहने में मदद करने और हजारों पौंड की कमाई करने का आरोप था। सोर्थिया एक छात्र के रूप में 2000 में यहां आया था। दस साल की सजा के बाद 35 वर्षीय विजय सोर्थिया को भारत प्रत्यर्पित किया जाएगा। घोटालों में मदद करने को लेकर उसकी पत्नी 31 वर्षीय भावना सोर्थिया को भी 15 महीने की सजा सुनाई गई है। सजा पूरी होने के बाद उसे भी भारत प्रत्यर्पित किया जाएगा। दंपती के तीन बच्चे हैं। दोनों को इसलेवर्थ क्राउन कोर्ट ने बुधवार को सजा सुनाई गई थी। सोर्थिया को मई 2010 में उत्तर पश्चिम लंदन स्थित उसके आवास से गिरफ्तार किया गया था। उस समय यूके बोर्डर एजेंसी को उसके घर से 330,000 पौंड नकद मिले थे। सोर्थिया अपनी पत्नी के साथ मिलकर माइग्रेशन गुरु के नाम से आव्रजन परामर्श कंपनी का संचालन कर रहा था। यूकेबीए के प्रवक्ता एडम एडवर्ड ने कहा कि सोर्थिया के कई ग्राहक थे जिन्होंने अपने वीजा को आगे बढ़ाने के लिए गृह विभाग में आवेदन दिया था।