19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
जी-8: यूरोपीय देशों पर आर्थिक संकट का साया!
19-05-2012

वाशिगंटन। दुनिया के धनी देशों के समूह जी 8 की अमरीका में हो रही बैठक में यूरोपीय देशों के आर्थिक संकट का साया नजर आ रहा है। जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल ने कहा कि ग्रीस को यूरोजोन में रहने न रहने पर विचार करना चाहिए। इसको लेकर वहां उथल पुथल मची हुई है। एंगेला मर्केल ने कहा है कि वे आर्थिक संकट से निपटने के लिए सरकारी खचों में कटौती की पक्षधर है। हालांकि जर्मनी ने मर्केल के दावे का खंडन कर दिया है लेकिन इसे लेकर उथल पुथल मची हुई है। बैठक से पहले अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और फ्रांस के नए राष्ट्रपति ओलांडे से मुलाकात की। ओबामा ने कहा कि पहली प्राथमिकता आर्थिक विकास है। उन्होंने कहा है कि यूरोप के आर्थिक संकट को सुलझाना अत्यधिक महत्वपूर्ण है। वहीं इस बैठक में ईरान और उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रमों और सीरिया पर भी चर्चा होगी। मर्केल ने ग्रीस में जनमत संग्रह की बात कथित तौर पर कामचलाऊ प्रधानमंत्री से कही। उधर निवेशकों का मानना है कि यदि ग्रीस यूरोजोन से हटता है तो यह नए वैश्विक संकट की शुरूआत होगी। ग्रीस यूरोजोन से निकलता है तो कर्ज से निपटने में लगे स्पेन और इटली के लिए मुश्किलें बढ़ जाएँगीं।