19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
मिस्र में राष्ट्रपति चुनाव के लिए कदम
23-05-2012

काइरो। मिस्र में राष्ट्रपति चुनाव के लिए बुधवार को मतदान शुरू होगा। मतदान स्थानीय समयानुसार सुबह 8 बजे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच शुरू हुआ। तानाशाह होस्नी मुबारक का शासन खत्म होने के बाद मिस्र में यह पहला राष्ट्रपति चुनाव है। इसमें पांच करोड़ से अधिक लोग मताधिकार का प्रयोग करेंगे। राष्ट्रपति चुनाव के लिए बुधवार और बृहस्पतिवार को मतदान होना है। अरब राजनीति के जानकार मुस्लिम ब्रदरहुड को सबसे ताकतवर मान रहे हैं। राष्ट्रपति चुनाव की निगरानी के लिए पूरे देश में लगभग 14,500 न्यायाधीशों और 65 हजार सरकारी कर्मचारियों को नियुक्त किया गया है। चुनाव परिणामों की घोषणा 21 जून को होगी। सेना के वर्तमान शासक 30 जून को नए राष्ट्रपति को सत्ता सौंप देंगे। राष्ट्रपति चुनाव के लिए 13 प्रत्याशी मैदान में हैं। जनमत सर्वेक्षणों के अनुसार, मिस्र के पूर्व विदेश मंत्री और अरब लीग पार्टी के अध्यक्ष अमर मोउसा, इस्लामिक नेता मोहम्मद अब्दुल फोटोउह, फ्रीड्म एंड जस्टिस पार्टी के अध्यक्ष मोहम्मद मुर्सी और पूर्व प्रधानमंत्री अहमद शफीक के बीच मुख्य मुकाबला है। अब मिस्र की जनता को इस्लामिक शरिया कानून, उदारवाद और सेना समर्थित सरकार में से किसी एक को चुनना है। चुनाव विशेषज्ञों का कहना है कि मुस्लिम ब्रदरहुड और सेना का नई सरकार पर प्रभाव निश्चित रूप से होगा। ब्रदरहुड मोहम्मद मुर्सी का समर्थन कर रहा है। मुर्सी ने अमेरिका से इंजीनियरिंग की शिक्षा ग्रहण की है। ब्रदरहुड के नेता मोहम्मद अब्देल मकसूद ने कहा कि अल्लाह की मर्जी से मुर्सी ही अगले राष्ट्रपति होंगे।