17 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
मिस्र में नया राष्ट्रपति चुनने के लिए ऐतिहासिक मतदान शुरू
24-05-2012

काहिरा। मिस्र में बुधवार से नया राष्ट्रपति चुनने के लिए ऐतिहासिक मतदान शुरू हुआ। हुस्नी मुबारक की सरकार के पतन के बाद देश में लोकतांत्रिक नेतृत्व चुनने के लिए दो दिनों तक वोट डाले जाएंगे। इस चुनाव में कुल 13 प्रत्याशी मैदान में हैं लेकिन असल मुकाबला पांच प्रमुख उम्मीदवारों के बीच है। पूर्व शासन के दो शख्स पूर्व विदेश मंत्री अम्र मूसा और पूर्व प्रधानमंत्री अहमद शफीक भी चुनाव लड़ रहे हैं। मुस्लिम ब्रदरहुड से मोहम्मद मुरसी और ब्रदरहुड से अलग हुए अब्द अल मुनीम अबुल फतह तथा वामपंथी प्रत्याशी हमादीन सबाही भी चुनावी दौड़ में शामिल हैं। दो दिन के इस चुनाव में अगर किसी भी प्रत्याशी को बहुमत नहीं मिला तो सर्वाधिक मत पाने वाले शीर्ष दो प्रत्याशियों के बीच 16 और 17 जून को फिर से मुकाबला होगा। नए राष्ट्रपति का कार्यकाल एक जुलाई से शुरू होगा। ये चुनाव पूर्ण न्यायिक निगरानी में कराए जा रहे हैं और इस प्रक्रिया की पारदर्शिता के लिए अंतरराष्ट्रीय निरीक्षक यहां पहुंचे हैं। मतदान शुरू होने के समय से दो घंटे पूर्व सुबह छह बजे से ही लोगों ने मतदान केंद्रों के बाहर पंक्ति लगाना शुरू कर दिया। मतदान केंद्रों को 12 घंटों के लिए खोला गया और ये केंद्र गुरुवार को भी 12 घंटो के लिए खुलेंगे। नतीजों का ऐलान 29 मई को होगा। प्रधानमंत्री कमाल अल गनजौरी ने चुनाव के मद्देनजर सरकारी कर्मचारियों के लिए एक दिन के अवकाश की घोषणा की गई है। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जिमी कार्टर ने मंगलवार को लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर चर्चा के लिए गनजौरी से मुलाकात की।मुबारक नहीं डालेंगे वोट राष्ट्रपति निर्वाचन आयोग ने कहा है कि अपदस्थ राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक और उनके पुत्र गमाल को चुनाव में मतदान का अधिकार है। बहरहाल, आयोग को उनकी ओर से चुनाव में भाग लेने के लिए कोई अनुरोध नहीं मिला है। मेडिकल सेंटर में बंद पूर्व राष्ट्रपति मुबारक के प्रशासन के 44 अधिकारियों को पांच अलग-अलग जेलों में रखा गया है। इन सभी ने मतदान के लिए कोई आवेदन नहीं दिया है। मिस्र के कानून के मुताबिक, जब तक बंदी दोषी नहीं ठहराए जाते, तब तक उन्हें मतदान का अधिकार होता है।