24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
नाटो शिखर सम्मेलन में पाकिस्तान अपमानित
24-05-2012

लाहौर। पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि शिकागो में नाटो शिखर सम्मेलन में उनके देश को अपमानित किया गया। कुरैशी ने इसके लिए राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की शून्य विश्वसनीयताको जिम्मेदार ठहराया है। कभी जरदारी की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के सदस्य रहे कुरैशी ने कहा, ‘दुनिया ने पाकिस्तान को उसके अक्षम शासकों की शून्य विश्वसनीयता के कारण गंभीरता से नहीं लिया। सम्मेलन में वैश्विक नेताओं ने राष्ट्रपति जरदारी को तवज्जो नहीं दी। हमारे निर्वाचित राष्ट्रपति के प्रति ऐसी बेरुखी से देश का अपमान हुआ है।
उन्होंने देश की मौजूदा पीपीपी सरकार को भी अक्षम बताते हुए कहा कि नाटो आपूर्ति मार्ग को लेकर वह पाकिस्तान के रुख को दुनिया के सामने प्रभावी ढंग से रखने में असफल रही है। कुरैशी से पहले पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल परवेज अशफाक कयानी ने भी कहा था कि शिकागो सम्मेलन से उनके देश की उम्मीदें पूरी नहीं हुई है। गौरतलब है कि सोमवार को समाप्त हुए शिकागो शिखर सम्मेलन के लिए जरदारी को आखिरी मौके पर न्यौता दिया गया था। इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने जरदारी को मुलाकात के लिए समय देने से इंकार कर दिया और अपने संबोधन में भी इस देश का जिक्र तक नहीं किया। हालांकि बाद में पाकिस्तान के घाव पर मरहम लगाते हुए ओबामा ने जरदारी से संक्षिप्त मुलाकात की थी।