16 February 2019



खेलकूद
चेन्नई सुपरकिंग्स फाइनल में पहुंचे
26-05-2012

चेन्नई। आईपीएल-5 के दूसरे क्वालिफाइंग मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स टीम दिल्ली पर 86 रन की सबसे बड़ी जीत के साथ टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंच गई। मुरली विजय की 113 रन की विस्फोटक बल्लेबाजी के दम पर पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई ने दिल्ली के सामने 223 रन की सबसे बड़ी चुनौती पेश की। जवाब में दिल्ली डेयरडेविल्स टीम ने धोनी के धुरंधरों के आगे घुटने टेक दिए। चेन्नई ने शानदार गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण का प्रदर्शन करते हुए 16.5 ओवर में दिल्ली को ऑल आउट कर दिया। वीरू-वार्नर ने किया निराश, महेला की फिफ्टी बेकारमहेला जयवर्घने ने 38 गेंदों में 55 रन की पारी खेली जबकि दिल्ली डेयडेविल्स के अन्य बल्लेबाजों ने पूरी तरह से निराश किया। सबसे अधिक उम्मीद वाली डेविड वॉनर(3) और कप्तान सहवाग(1) की जोड़ी भी कोई कमाल नहीं दिखा पाई और आगाज से ही दिल्ली की पारी बुरी तरह से लड़खड़ा गई। अन्य बल्लेबाज रॉस टेलर(24), आंद्रे रसेल(17), नमन ओझा(7), वेणुगोपाल(10), सन्नी गुप्ता(0) और उमेश यादव(1) भी बिना कोई कमाल दिखाए पैवेलियन लौट गए। चेन्नई ने खड़ा किया 222 रन का सबसे बड़ा स्कोर मुरली विजय की विस्फोटक बल्लेबाजी के दम पर चेन्नई सुपरकिंग्स ने दिल्ली डेयरडेविल्स को सीजन की सबसे बड़ी चुनौती(222 रन) पेश की। मुरली(113 रन) और ब्रावो(नाबाद 33) ने अंतिम 17 गेंदों में 39 रनों की साझेदारी करते हुए चेन्नई के स्कोर को 5 विकेट के नुकसान पर 222 रन तक पहुंचा दिया। मुरली ने जड़ा आईपीएल का सबसे तेज शतकटूर्नामेंट के दूसरे क्वालिफाइंग मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स के मुरली विजय ने टूर्नामेंट का सबसे तेज शतक जड़ा। दिल्ली डेयरडेविल्स पर कहर बन टूटे मुरली ने 51 गेदों में 13 चौके और 4 छक्के ठोकते हुए अपना शतक पूरा किया। इससे पूर्व दिल्ली के डेविड वार्नर ने डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ हैदराबाद में 52 गेंदों में शतक जड़ा था। इससे पहले 10 चौकों की मदद से 28 गेंदों में मुरली ने अपनी फिफ्टी(52) पूरी करते हुए चेन्नई को धमाकेदार शुरूआत दी। हालांकि दूसरे छोर पर उनका साथ दे रहे माइकल हसी(20) 9वें ओवर में पैवेलियन लौट गए। हसी आरोन की गेंद पर विकेट के पीछे ओझा के हाथों लपके गए। चेन्नई को दूसरा झटका सुरेश रैना के रूप में लगा। 13.4 ओवर में रैना को नेगी ने अपनी ही गेंद पर कैच आउट किया। रैना ने 17 गेंदों में 27 रन बनाए। धोनी ने फिर दिखाया दम एलिमिनेशन मैच में चेन्नई के लिए मैच जीताऊ पारी खेलने वाले कप्तान धोनी ने एक बार फिर जबर्दस्त बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया। धोनी ने 10 गेंदों में 1 चौका और 2 छक्के जड़ते हुए 23 रन की पारी खेली और 17वें ओवर में सीमा रेखा पर नेगी के हाथों कैच आउट हो गए। धोनी के बाद मैदान पर उतरे मोर्केल(0) पहली ही गेंद पर विकेट के पीछे लके गए। इससे पूर्व क्वालीफायर-1 में कोलकात से हार के बाद दिल्ली डेयरडेविल्स ने टॉस जीता और धोनी के धुरंधरों को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। इसके बाद एलिमिनेशन मैच में मुंबई को टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता दिखाने के बाद दूसरे `ालिफाइंग मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स टीम दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ मैदान में उतरी।