18 February 2019



खेलकूद
आईपीएल-5 का खिताब केकेआर के नाम
28-05-2012

चेन्नई। फाइनल मुकाबले में चेन्नई सुपरकिंग्स को 5 विकेट से करारी शिकस्त देकर कोलकाता नाइटराइडर्स ने आईपीएल-5 का खिताब जीत लिया। शाहरूख खान की मालिकाना हक वाली कोलकाता टीम पहली बार फाइनल में पहुंची और 2 गेंद शेष रहते विजय हासिल कर ली। "मैन ऑफ द मैच" मानविंदर बिस्ला ने विस्फोटक 89 रन की पारी खेली।बिस्ला-कालिस ने खेली जीताऊ पारी चेन्नई के खिलाफ कोलकाता नाइटराइडर्स को मजबूत स्थिति तक पहुंचाने में मानविंदर बिस्ला और जैक्स कालिस की शानदार पारी अहम रही। 8 चौके और 5 छक्के ठोकते हुए बिस्ला ने 48 गेंदों में 89 रन बनाए, जबकि कालिस ने 7 चौके और 1 छक्का ठोकते हुए 49 गेंदों में 69 रन बनाए। इस बल्लेबाज जोड़ी न टूर्नामेंट की छठी सबसे बड़ी साझेदारी (136 रन) करते हुए कोलकाता जीत के मुहाने तक पहुंचा दिया। हालांकि कप्तान गंभीर का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा और वह हिल्फेनहास के हाथों बोल्ड हो गए। वह पहले ही ओवर में हिल्फेनहास ने गंभीर को 2 रन के निजी स्कोर पर बोल्ड हुए।चेन्नई ने पेश की 191 रन की फाइनल चुनौती चेन्नई सुपरकिंग्स ने कोलकाता नाइटराइडर्स को 191 रन की चुनौती पेश की। क्वलिफाइंग में सबसे बड़ी जीत के बाद चेन्नई सुपरकिंग्स टीम फिर एक बार रंगत में दिखी। सलामी बल्लेबाज विजय मुरली(42) और माइकल हसी(54) के बाद सुरेश रैना(73) की ने चौके-छक्के जड़ते हुए स्कोर को 190 रन पहुंचा दिया। बेकार गई रैना की विस्फोटक पारी टूर्नामेंट के लीग और प्लेऑफ मुकाबलों में कुछ खास कमाल नहीं दिखाने वाले सुरेश रैना का बल्ला आखिर फाइनल में चमका। रैना ने 38 गेंदों में 3 चौके और 5 छक्के जड़ते हुए 73 रन बनाए। उनके सामने कोलकाता के सबसे कीफायती गेंदबाज सुनील (0/37) भी बेबश नजर आए। जबकि ब्रट ली कोलकाता के लिए सबसे महंगे (0/42) साबित हुए। इससे पहले चेन्नई सुपरकिंग्स को धमाकेदार शुरूआत के बाद मुरली विजय के रूप में पहला झटका लगा। 10.2 ओवर में रजत भाटिया की गेंद पर सीमा रेखा पर शाकिब अल हसन के हाथों लपके गए। पिछली पारी में शतकीय पारी खेलने वाले मुरली ने 32 गेंदों में 4 चौके और 1 छक्के की मदद से 42 रन बनाए। पैवेलियन लौटते वक्त मुरली काफी निराश दिखे।