16 February 2019



खेलकूद
भारत की उम्मीदें अभी जिंदा
29-05-2012

इपोह। पांच बार के चैम्पियन भारत ने मेजबान मलेशिया को बेहद रोमांचक मुकाबले में 3-2 से हराकर सुल्तान अजलन शाह कप हॉकी के फाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखा। भारत की तरफ से दानिश मुज्तबा ने नौवें, शिवेन्द्र सिंह ने 12वें और तुषार खांडेकर ने 43वें मिनट में गोल किए। उधर मलेशिया के लिए मोहम्मद अमीन रहीम ने 40वें और मोहम्म फित्री सारी ने 57वें मिनट में गोल दागे। भारतीय टीम मध्यांतर तक 2-0 से आगे थी। भारत को इससे पहले न्यूजीलैंड और ब्रिटेन के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा था जबकि उसने कोरिया को शिकस्त दी थी। इस जीत के बाद भारत के अब चार मैचों से छह अंक हो गए हैं और वह न्यूजीलैंड तथा अर्जेन्टीना के बाद तीसरे स्थान पर है। न्यूजीलैंड तीन मैचों से नौ अंकों के साथ पहले और अर्जेन्टीना चार मैचों से छह अंक लेकर दूसरे स्थान पर है। लेकिन बेहतर गोल औसत के कारण अर्जेन्टीना भारत से आगे है। भारत-पाक मैच गुरूवार को हालांकि फाइनल के लिए भारत की राह इतनी आसान नही होगी। भारतीय टीम को अगले दो मैचों में अर्जेन्टीना और चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से भिड़ना है। अर्जेन्टीना से मैच जहां बुधवार को होगा, वहीं गुरूवार को भारत और पाकिस्तान में टक्कर होगी। पाकिस्तान की एक और हार न्यूजीलैंड के हाथों 3-1 से करारी शिकस्त झेलने के बाद पाकिस्तान को सोमवार को खेले गए मैच में दक्षिण कोरिया ने भी 4-0 से हरा दिया। कोरिया ने चार मैचों में पहली जीत दर्ज की। दक्षिण कोरिया को पाकिस्तान के स्ट्राइकरों की गलती का भी फायदा मिला, जिन्होंने पहले हाफ में कई मौके गंवाए। कोरिया की तरफ से नैम ±युन वू ने पेनल्टी कॉर्नर पर दो गोल दागे। उन्होंने 18वें मिनट में दूसरे पेनल्टी कॉर्नर पर टीम का खाता भी खोला। पाकिस्तान के कप्तान सोहेल अब्बास को टीम को बराबरी दिलाने का मौका मिला, लेकिन पहले पेनल्टी कॉर्नर पर उनका शॉट गोलकीपर ली म्युंग हो के पैड से टकराने के बाद गोलपोस्ट से टकराता हुआ बाहर आ गया। अब्बास पाकिस्तान को मिले चार पेनल्टी कॉर्नर में से एक को भी गोल में तब्दील नहीं कर पाए।