19 February 2019



खेलकूद
लंदन ओलंपिक में भारत को बड़ा झटका
30-05-2012

पेरिस। लंदन ओलंपिक में भारत की पदक उम्मीदों को आज तब बड़ा झटका लगा जब सानिया मिर्जा फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के महिला युगल के पहले दौर में हारकर बाहर हो गई। व्यक्तिगत युगल रैकिंग में दसवें नंबर पर काबिज सानिया को ओलंपिक में महिला युगल में सीधा प्रवेश पाने के लिए 11 जून की समयसीमा तक शीर्ष दस में रहना होगा। सानिया यदि लंदन ओलंपिक में महिला युगल या एकल में जगह बनाती है तो उन्हें मिश्रित युगल में भी जगह मिल जाएगी जिसमें वह संभवत: महेश भूपति के साथ जोड़ी बनाएंगी। इसके लिए उन्हें रोलां गैरां यानी फ्रेंच ओपन में अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत थी। लेकिन पिछले साल यहां उपविजेता रहीं सानिया को अपनी जोड़ीदार बेथेनी माटेक सैंड्स के साथ पहले दौर में हार झेलनी पड़ी। उन्हें रूस की निना ब्राटचिकोवा और रोमानिया की एडिना गालोविट्स हाल के हाथों 3-6, 6-4, 5-7 से हार का सामना करना पड़ा। इससे सानिया के लिए चोटी की दस खिलाड़ियों में बने रहना मुश्किल होगा। केवल चोटी की दस खिलाड़ियों को ही ओलंपिक में सीधे प्रवेश दिया जाएगा और उन्हें अपनी पसंद का जोड़ीदार चुनने की भी छूट होगी। भारतीय महिला टेनिस की इतनी बुरी स्थिति है कि सानिया के बाद दूसरी सर्वाधिक रैंकिंग की खिलाड़ी रश्मि चक्रवर्ती है जिनकी युगल में रैकिंग 514 है। इन दोनों की संयुक्त रैंकिंग किसी भी तरह से क्वालीफिकेशन मार्क तक नहीं जा पाएगी।