19 February 2019



खेलकूद
भारत के लिए करो या मरो का मैच
30-05-2012

इपोह। पांच बार की चैम्पियन भारतीय टीम को अजलान शाह कप हॉकी टूर्नामेंट के फाइनल की दौड़ में बरकरार रहने के लिए बुधवार को हर हालत में पेन अमरीकी चैम्पियन अर्जेटीना को हराना होगा। मलेशिया को 3-2 से हराकर भारत ने खुद को टूर्नामेंट में बरकरार रखा है। दूसरी ओर अर्जेटीना ने ब्रिटेन पर 3-2 से जीत दर्ज करके फाइनल की दावेदारी कायम रखी है। दोनों टीमों के लिए यह मैच अहम है।अर्जेंटीना के बाद भारत को गुरूवार को आखिरी लीग मैच में पाकिस्तान से खेलना है। माइकल नोब्स की टीम के लिए ये चुनौती हालांकि उतनी आसान नहीं होगी। नोब्स ने कहा कि उन्होंने अपने खिलाडियों को आखिरी दो मैचों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की ताकीद की है। उन्होंने कहा कि अभी भी टूर्नामेंट खुला है। दो मैचों में बड़ी जीत दर्ज करके हम फाइनल में पहुंच सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमारा फोकस ओलंपिक की तैयारी पर है और हम मैच दर मैच बेहतर प्रदर्शन करना चाहते हैं।मलेशिया और दक्षिण कोरिया को हराकर भारतीय टीम पदक की दौड़ में लौटी है। पहले मैच में उसे न्यूजीलैंड ने 5-1 से मात दी थी, जबकि दूसरे मैच में भारत ने दक्षिण कोरिया को हराया। फिर ब्रिटेन ने उसे मात दी। ब्रिटेन को बाकी मैचों में जेम्स टिंडेल की कमी खलेगी, जो टखने में चोट के कारण नहीं खेल पाएंगे। अर्जेटीना की ब्रिटेन पर 3-2 से जीत ने फाइनल के दरवाजे सभी के लिए खोल दिए हैं।अर्जेंटीना के कोच पाब्लो लोंबी ने कहा कि उनकी टीम चतुराई भरी हॉकी खेल रही है। उन्होंने कहा कि हम दो मैच जीतकर लय हासिल कर चुके हैं। हम अच्छी शुरूआत कर रहे हैं और गलतियां कम कर रहे हैं। ब्रिटेन पर मिली जीत से हौसला बढ़ा है।