17 February 2019



प्रादेशिक
कुपोषण मध्यप्रदेश के विकास पर धब्बा- शिवराज
30-05-2012

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने योजना आयोग की बैठक में यह साफ कहा है कि बाल कुपोषण मध्यप्रदेश के विकास में धब्बा है। मध्यप्रदेश का महिला एवं बाल विकास विभाग इस धब्बे को मिटाने में अक्षम साबित हुआ है। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री रंजना बघेल को इतनी फुर्सत नहीं है कि वे विभाग की योजनाओं को सही ढंग से मैदानी रूप से क्रियान्वित करवा सकें। अक्षम और नाकारा किस्म के मंत्रियों तथा अफसरों के कारण मुख्यमंत्री भी नाखुश हैं। राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मध्यप्रदेश कुपोषण के मामले में कुख्यात हो चुका है। यहां के कई इलाकों की हालत तो सोमालिया जैसी है।