18 February 2019



खेलकूद
एशिया की दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने की उम्मीदें टूटी
05-06-2012

पेरिस। दूसरी वरीयता प्राप्त स्पेन के राफेल नडाल ने फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेट के क्वार्टरफाइनल मे प्रवेश कर लिया। नडाल ने अर्जेन्टीना के जुआन मोनाको को सीधे सैटों में 6-2, 6-0, 6-0 से हराया। महिलाओं में रूसी मारिया शारापोवा चौथे दौर की बाधा पार करने में सफल रही, जबकि गत चैम्पियन ली ना उलटफेर का शिकार होकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई। ली ना चौथे रांउड के मैच में गैर वरीयता की कजाकिस्तान की यारोस्लावा श्वेदोवा से 6-3, 2-6, 0-6 से हारकर बाहर हो गई, जिससे एशिया की दूसरा ग्रैंडस्लैम खिताब जीतने की उम्मीदें भी टूट गई। शारापोवा ने जूझने के बाद चेक गणराज्य की अनुभवी क्लारा जाकोपालोवा को तीन घंटे 11 मिनट में 6-4, 6-7, 6-2 से शिकस्त देकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। पांचवीं वरीयता प्राप्त स्थानीय खिलाड़ी जो विल्फ्रेड सोंगा ने पांच सेटों तक चले मैराथन संघर्ष में स्विट्जरलैंड के स्टेनिस्लास वावरिंका को हराकर अंतिम आठ मे प्रवेश कर लिया। सोंगा ने प्रीक्वार्टरफाइनल में स्विस खिलाड़ी को 6-4, 7-6, 3-6, 3-6, 6-4 से हराया। अंतिम आठ में सोंगा का सामना शीर्ष वरीयता प्राप्त सर्बिया के नोवाक जोकोविच से होगा। सोंगा के अलावा स्पेन के डेविड फेरर व निकोलस अल्मार्गो और अर्जेन्टीना के जुआन मार्टिन डेल पोट्रो भी अपने-अपने मुकाबले जीतकर अंतिम आठ में जगह बनाने में सफल रहे। छठी वरीयता प्राप्त स्पेनिश खिलाड़ी फेरर ने जहां हमवतन मार्सेल ग्रानोलेर्स को सीधे सेटों में 6-3, 6-2, 6-0 से हराया, वहीं अल्मार्गो ने सर्बिया के जांको टिप्सारेविच को 6-4, 6-4, 6-4 से शिकस्त दी।