19 February 2019



खेलकूद
चेक गणराज्य और रूस आमने-सामने: यूरो कप
08-06-2012

व्रोकला। यूरो कप में शुक्रवार को होने वाले दूसरे मुकाबले में चेक गणराज्य और रूस आमने-सामने होंगे। 1996 में जर्मनी के हाथों खिताब गंवाने वाले चेक गणराज्य का हालिया प्रदर्शन मिला-जुला रहा है। हालांकि टूर्नामेंट से ठीक पहले खिलाड़ियों की चोट ने उसकी चिंता और बढ़ा दी है। दूसरी ओर 2004 में सेमीफाइनल तक का सफर तय करने वाली रूसी टीम अच्छी लय में चल रही है। टीम ने अभ्यास मैच में इटली को 3-0 से पराजित किया था। दोनों टीमों के बीच आखिरी भिड़ंत 1996 में यूरो कप के ही दौरान हुई थी, जिसमें दोनों टीमें बराबरी पर रही थीं। रूस के खिलाफ अहम मुकाबले से पहले स्टार स्ट्राइकर मिलान बारोस की फिटनेस ने चेक खेमे की चिंता बढ़ा दी है। चेक के लिए 88 मैचों में 41 गोल कर चुके बारोस के बगैर टीम का आक्रमण कमजोर नजर आता है। अभी यह तय नहीं है कि वह रूस के खिलाफ खेलेंगे या नहीं। बारोस की अनुपस्थित में आर्सेनल के टॉमस रोसोस्की और चेल्सी के गोलकीपर पेट्र केच से टीम को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी। कोच माइकल ब्लीक ने कहा कि सभी टीमों के पास क्वार्टर फाइनल में पहुंचने का मौका है। पहला मैच हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है। हमें ग्रुप की पसंदीदा टीम रूस से भिड़ना है। उम्मीद है कि हम जीत दर्ज कर सकेंगे। वहीं पिछले 14 मैचों में जीत दर्ज करने वाली रूसी टीम शानदार फार्म में चल रही है। क्वालीफाइंग दौर में शीर्ष पर रहने वाले रूस के लिए गोलकीपर इगोर एकिनफेयेव, एलेक्जेंडर एनयुकोव, मारात इजमोलोव अहम खिलाड़ी साबित होंगे।