19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
गजल गायकी के सरताज का निधन
13-06-2012

कराची। भारत में जन्मे पाकिस्तानी गजल बादशाह मेहदी हसन का बुधवार को निधन हो गया। वह 84 साल के थे। हसन कुछ साल से बीमार थे। उन्हे सांस लेने में तकलीफ के बाद कराची के एक निजी नर्सिग होम में दाखिल कराया गया था, जहां उनका निधन हो गया।सूत्रों के मुताबिक हसन के बेटे आरिफ ने उनके निधन की पुष्टि करते हुए बताया, 'मेरे पिता बीते 12 साल से बीमार थे लेकिन इस साल उनकी हालत और बिगड़ गई थी।'अपनी अनोखी गजल गायकी के सहारे दुनिया भर के गजल प्रेमियों के दिलों पर राज करने वाले मेहदी हसन पिछले कुछ वर्षो से लकवे से पीड़ित थे। इलाज के सिलसिले में वे एक बार भारत भी आए थे।पिछले कुछ महीनों से इनका स्वास्थ्य और बिगड़ गया था तथा बोलने में भी दिक्कत होने लगी थी। मेहदी हसन की बिगड़ती हालत को देखकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भारत में उनके मुफ्त इलाज की पेशकश की थी। मूल रूप से राजस्थान के झूंझनू के रहने वाले मेहदी हसन का परिवार विभाजन के समय पाकिस्तान चला गया था।