19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
अमेरिका नहीं लगाएगा ईरान से तेल खरीद में भारत पर प्रतिबंध
13-06-2012

 वाशिंगटन। अमेरिका ने ईरान से तेल खरीद में कटौती करने के बाद भारत समेत सात देशों पर प्रतिबंध न लगाने का फैसला किया है, लेकिन चीन पर चुप्पी साधे रखी है। इसके बाद चीन के इस महीने के आखिर तक अमेरिकी प्रतिबंधों के दायरे में आने की आशंका बढ़ गई है। अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा, ‘ईरान से वास्ता रखने वाले देशों पर प्रतिबंध लगाने की हमारी नीति रंग ला रही है। ईरान की तेल बिक्री में कटौती कर हम वहां के नेतृत्व को स्पष्ट इशारा दे रहे हैं कि अगर उन्होंने अंतरराष्ट्रीय बिरादरी की अनदेखी करनी जारी रखी तो उन्हें और भी अधिक अलग-थलग कर दिया जाएगा।भारत ईरान से तेल आयात करने वाला दूसरा सबसे बड़ा देश है।अमेरिका ने भारत, दक्षिण कोरिया और तुर्की के अलावा मलेशिया, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका और ताइवान को भी प्रतिबंधों के दायरे से बाहर रखने का फैसला लिया है। ईरान के तेल निर्यात के पांचवें हिस्से को खरीदने वाले चीन और सिंगापुर को कोई राहत नहीं दी गई है। अमेरिका 28 जून को ईरान से तेल खरीदने वाले देशों पर इन प्रतिबंधों को लागू करेगा। वाशिंगटन स्थित चीन दूतावास के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने इस ताजा घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, ‘हमारी सरकार किसी एक देश की सरकार के दूसरे देश पर थोपे जाने वाले एकतरफा प्रतिबंधों का विरोध करती है।उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर दबाव बनाने के इरादे से अपनी नई रक्षा नीति में इन प्रतिबंधों को पेश किया था। इन प्रतिबंधों का लक्ष्य ईरान के आíथक तंत्र की घेराबंदी करना था और इनमें ईरान से तेल खरीदने और उससे व्यापारिक संबंध रखने वाले देशों की भी लगाम कसने का प्रावधान था।