16 February 2019



खेलकूद
ग्रीस को पराजित कर चेक गणराज्य ने किया उलटफेर
13-06-2012

व्रोकला। करो या मरो के मुकाबले में चेक गणराज्य की टीम ने मंगलवार को यूरो कप में ग्रुप-ए के मुकाबले में 2008 की विजेता ग्रीस को मात देते हुए नॉक आउट चरण में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा। अपने पहले मुकाबले में चेक मजबूत रूस के हाथों हार गया था। चेक टीम ने शुरुआत से ही तेजतर्रार खेल दिखाते हुए विश्व रैंकिंग में अपने से कहीं ऊपर की टीम ग्रीस को 2-1 से हराकर सभी को चौंका दिया। चेक गणराज्य की ओर से पेट्र जिरेक ने मैच के तीसरे मिनट में ही थामस हुब्सकमन के पास पर गेंद को विपक्षी टीम के गोलपोस्ट में डालकर टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी। ग्रीक टीम अभी इस सदमे से उबरी भी नहीं थी कि चेक खिलाड़ी वाक्लव पिलर ने छठे मिनट में एक और गोल करके टीम को 2-0 की बढ़त दिला दी। दोनों टीमों ने इसके बाद एक दूसरे के खिलाफ कई शानदार मूव बनाए, लेकिन गोल करने में कोई सफल नहीं हो सका। पहले हाफ तक चेक टीम ने अपनी बढ़त को बरकरार रखा। दूसरे हाफ में ग्रीस की ओर से 53वें मिनट में फानी गेकास ने चेक गोलकीपर पेट्र चेक की गलती का फायदा उठाते हुए गेंद को गोलपोस्ट में पहुंचा कर बढ़त को कम किया। ऐसा लगा अब टीम वापसी कर लेगी। ग्रीस की टीम ने बराबरी पाने के लिए जी जान लगा दिया, लेकिन रूस से अपना पहला मुकाबला गंवाने वाली चेक टीम की रक्षापंक्ति ने उनके हर वार को नाकाम किया। ग्रीस की टीम थोड़ी बदकिस्मत भी रही जब पहले हाफ में गिओरगोस फोटाकिस के गोल को रैफरी ने ऑफ साइड करार देते हुए अमान्य कर दिया। ग्रीस ने अपना पहला मुकाबला पोलैंड के साथ ड्रा खेला था और अब इस हार के बाद क्वार्टर फाइनल में पहुंचने की उसकी राह और भी मुश्किल हो गई है।