16 February 2019



खेलकूद
कनेरिया को स्पाट फिक्सिंग में क्लीन चिट नहीं
22-02-2012

दुबई। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद [आईसीसी] ने इस खबर का खंडन किया है कि उसने पाकिस्तानी लेग स्पिनर दानिश कनेरिया को स्पाट फिक्सिंग मामले में फंसने के बाद प्रतिस्प‌र्द्धी क्रिकेट में खेलने की मंजूरी दे दी थी। इस मामले में कनेरिया के एसेक्स काउंटी के साथी मर्विन वेस्टफील्ड को चार महीने की सजा सुनाई गई है। आईसीसी के अपने दो सदस्य बोर्डो की तरफ से संयुक्त बयान में कल कहा, मीडिया में रिपोर्ट आई हैं जिनमें दानिश कानेरिया ने अनापत्ति प्रमाणपत्र मिलने का दावा किया है। आईसीसी, इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड [ईसीबी] और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड [पीसीबी] इस तरह के अनापत्तिप्रमाणपत्र जारी करने से स्पष्ट तौर पर इन्कार करते हैं। इसमें कहा गया है, पीसीबी ने कहा है कि मर्विन वेस्टफील्ड पर फैसला आने के बाद दानिश कनेरिया को फिर से अपनी स्थिति स्पष्ट करने के लिए इंटीग्रेटी कमेटी के समक्ष उपस्थित होने के लिए कहा जाएगा। बयान के अनुसार, पीसीबी ने इसके साथ ही पुष्टि की कि कनेरिया को मंजूरी देने का मसला पीसीबी की इंटीग्रेटी कमेटी के समक्ष लंबित है। इस समिति ने अपनी आखिरी बैठक में उनसे एसेक्स पुलिस को दिए गए बयान के टेप की प्रति मुहैया कराने के निर्देश दिए थे। कनेरिया और वेस्टफील्ड को एसेक्स पुलिस ने मई 2010 में डरहम के खिलाफ 2009 में खेले गए काउंटी मैच में स्पाट फिक्सिंग करने के संदेह में गिरफ्तार किया था। कनेरिया को छोड़ दिया गया था और उनके खिलाफ आरोप तय नहीं किए गए थे लेकिन वेस्टफील्ड को इस साल जनवरी में स्पाट फिक्सिंग का दोषी पाया गया और पिछले सप्ताह लंदन की अदालत ने उन्हें सजा सुनाई। कनेरिया ने हालांकि दावा किया कि वह निर्दोष हैं तथा आईसीसी और पीसीबी ने उन्हें पाक साफ करार दिया है।