24 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
ओबामा और मनमोहन सिंह साथ- साथ
15-06-2012

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने वैश्रि्वक अर्थव्यस्था को मजबूत करने के अलावा क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर पारस्परिक संबंधों समेत गहराते यूरो जोन संकट पर बातचीत की। ओबामा ने बृहस्पतिवार को फोन पर प्रधानमंत्री सिंह से चर्चा की। व्हाइट हाउस से जारी बयान के अनुसार दोनों नेता यूरो जोन से आई मंदी से उबारते हुए विश्व स्तर पर अर्थव्यवस्था में मजबूती लाने के लिए मिलकर कार्य करने पर सहमत हो गए हैं। बयान में कहा गया है कि दोनों नेता यूरोजोन संकट और अन्य स्थानों पर अर्थव्यवस्था पर लगातार बने खतरे के मद्देनजर वैश्रि्वक अर्थव्यवस्था की मजबूती के उपायों के महत्व पर सहमत हुए है।साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति और भारतीय प्रधानमंत्री मैक्सिको के लॉस काबोस में 18 जून से शुरू हो रहे दो दिवसीय जी-20 सम्मेलन को सफल बनाने के लिए एक साथ कार्य करने पर भी रजामंद हो गए हैं। इस बैठक में यूरोपीय संकट के अलावा भारत और चीन की गिरती अर्थव्यस्था का मुद्दा छाए रहने की संभावना है। यूरोप में जारी कर्ज संकट से ग्रीस और स्पेन जैसों के सामने कर्ज चुकाने का गहरा संकट मंडरा रहा है।दोनों शीर्ष नेताओं की बातचीत उस समय हुई है जब अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन और भारतीय विदेश मंत्री एसएम कृष्णा तीसरे भारत-अमेरिकी कूटनीतिक सम्मेलन में भाग लेने वाले हैं। भारत उन छह देशों में शामिल है जिसे अमेरिका ने ईरान से तेल आयात करने के मामले में नए प्रतिबंधों को मानने से छूट दे रखी है।