21 February 2019



मनोरंजन
जेनिलिया को किया दरकिनार
15-06-2012

हिंदी फिल्म जगत का दस्तूर है शादीशुदा कलाकारों, खासकर अभिनेत्रियों को दरकिनार कर देना। कुछ ऐसी ही हालत हो रही है हाल ही में शादी करने वाली जेनिलिया डिसूजा की। शादी से पहले उन्हें जिस तरह विज्ञापन फिल्में मिल रही थीं, उनमें अब तेजी से गिरावट आई है। फिल्मकार कहते हैं, विज्ञापन की दुनिया के लिए प्रशंसकों की तादाद बहुत सीमित है। खासकर युवाओं के लिए। शादी से पहले जेनिलिया युवाओं का प्रतिनिधित्व करती थीं। कम उम्र के युवाओं में जो चंचलता होती है, वह उनमें नजर आती थी। लिहाजा युवाओं के पसंदीदा उत्पाद बेचने वाली कंपनियां जेनिलिया से संपर्क किया करती थीं, लेकिन अब स्थिति बदल गई है। उनकी शादी के बाद उनसे विज्ञापन कंपनियां अपने करार तोड़ रही हैं। वैसे भी शादीशुदा कलाकारों से घरेलू उपकरणों और बच्चों के इस्तेमाल में आने वाले उत्पादों के विज्ञापन कराए जाते हैं। मसलन, काजोल, माधुरी दीक्षित, शिल्पा शेट्टी और अब करिश्मा कपूर सिर्फ ऐसे विज्ञापनों में ही नजर आ रही हैं। कई फिल्मकार भी जेनिलिया के रवैये में बदलाव की बात भी कहते हैं। वे कहते हैं कि उनके फिल्मों के फैसले अब रितेश देशमुख करने लगे हैं। कई छोटी बजट की फिल्में ऑफर किए जाने पर यह भी सुनने को मिल रहा है कि उसमें हीरो के रोल के लिए जेनेलिया ने रितेश के नाम की सिफारिश की है। यह सब कब तक चलेगा..।