17 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
अप्रवासी कानून में होगा बदलाव: ओबामा
16-06-2012

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अप्रवासी कानून में बदलाव लाने की घोषणा करते हुए कहा कि उनकी सरकार उन प्रतिभावान युवा अवैध आव्रजकों को देश से निष्कासित नहीं करेगी, जिनसे आपराधिक या सुरक्षा संबंधी कोई खतरा नहीं होगा। ओबामा ने शुक्रवार अपराह्न व्हाइट हाउस में संबोधन में कहा कि उनके कार्यकारी आदेश के जरिए हुआ नीतिगत बदलाव आव्रजन नीति को अधिक निष्पक्ष, अधिक प्रभावी और अधिक ईमानदार बनाएगा। ओबामा ने अपने आलोचकों को जवाब देते हुए कहा कि यह आम माफी नहीं है। यह छूट नहीं है। यह नागरिकता का कोई रास्ता नहीं है। यह कोई स्थायी व्यवस्था नहीं है। यह अस्थाई कदम है।ओबामा ने कहा कि अवैध आव्रजकों के बच्चे हमारे स्कूलों में पढ़ते है, हमारे आस-पड़ोस में खेलते है, हमारे बच्चों से दोस्ती करते है, हमारे ध्वज के प्रति निष्ठा जताते है। ऐसे में इस तरह के प्रतिभावान युवाओं को निष्कासित करने का कोई औचित्य नहीं बनता, जो हर इरादों और उद्देश्यों से अमेरिकी है।नई नीति के तहत, 16 वर्ष की उम्र से पहले अमेरिका आए 30 वर्ष से कम उम्र के व्यक्तियों को निष्कासित किए जाने को लेकर दो वर्ष की छूट मिल सकती है, जिनसे किसी तरह का आपराधिक या सुरक्षा सम्बंधी खतरा नहीं हो, वे सफल विद्यार्थी हों या सेना में काम कर चुके हों, उन्हे दो साल तक निर्वासित नहीं किया जाएगा।घरेलू सुरक्षा मंत्री जैनेट नेपोलिटेनो ने कहा कि यह नीति वर्क परमिट्स के आवेदन की जरूरतें पूरी करने वालों को भी अनुमति देगी। नेपोलिटेनो ने कहा कि यह नीतिगत बदलाव उन अवैध आव्रजकों के संसाधनों पर निशाना साधने के विभाग के प्रयास का हिस्सा है, जिनसे कोई बड़ा खतरा हो, जैसे कि अपराधी और देश में घुसपैठ करने की कोशिश करने वाले। आव्रजन सुधार पर डेमोक्रेटिक प्रयासों को अवरुद्ध करने वाले रिपब्लिकन सदस्यों ने इस कदम की तत्काल निंदा की। राष्ट्रपति चुनाव में ओबामा के संभावित प्रतिद्वंद्वी मिट रोमनी ने कहा कि इस मुद्दे पर किसी कार्यकारी आदेश के बदले अधिक ठोस कार्रवाई की आवश्यकता है।लेकिन 42 संगठनों का नेटवर्क, नेशनल कोलिशन ऑफ साउथ एशियन ऑर्गनाइजेशन्स [एनसीएसओ] के सदस्यों ने ओबामा की इस घोषणा की प्रशंसा की है।