16 February 2019



खेलकूद
एआइटीए को पड़ा झुकना
21-06-2012

नई दिल्ली। शीर्ष खिलाड़ियों के बगावती रुख के बाद अखिल भारतीय टेनिस संघ [एआइटीए] ने गुरुवार को लंदन ओलंपिक के लिए दो युगल टीम भेजना निर्णय लिया। भारत के नंबर एक युगल खिलाड़ी लिएंडर पेस को उभरते खिलाड़ी विष्णुवर्धन के साथ जबकि महेश भूपति को रोहन बोपन्ना के साथ जोड़ी बनानी होगी। अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ [आइटीएफ] को खिलाड़ियों की सूची सौंपने की गुरुवार को अंतिम तिथि है और तीनों खिलाड़ियों को मनाने में असफल रहने के बाद एआइटीए ने एक के बजाए दो टीम भेजने का निर्णय लिया। एआइटीए का कहना है कि यदि सानिया मिर्जा को वाइल्ड कार्ड मिल जाता है तो वह ओलंपिक के मिश्रित युगल वर्ग में पेस के साथ जोड़ी बनाएंगी। हालांकि सानिया ने भी कुछ दिन पूर्व पेस के साथ जोड़ी बनाने पर अनिच्छा जाहिर की थी। वहीं पेस के जोड़ीदार बनाए गए विष्णुवर्धन पिछले एशियाई खेलों में सानिया के साथ मिश्रित युगल में रजत पदक जीत चुके हैं। पेस दुनिया में सातवें नंबर के युगल खिलाड़ी हैं जबकि विष्णु की रैंकिंग 207वीं है। ओलंपिक के लिए टीम की घोषणा करते हुए एआइटीए के अध्यक्ष एके खन्ना ने कहा कि खिलाड़ियों के निजी विवाद के चलते हमारे पास ज्यादा आप्शन नहीं रह गए थे। हमारी पहली पसंद पेस के साथ भूपति या बोपन्ना की जोड़ी थी लेकिन दोनों ने पेस के साथ जोड़ी बनाने से इन्कार कर दिया था। खन्ना का कहना है कि हम जानते हैं कि नंबर एक खिलाड़ी के लिए यह अनुचित है लेकिन हमें उम्मीद है कि इस फैसले से पेस निराश नहीं होंगे। इससे पूर्व लिएंडर पेस ने कम रैंकिंग वाले खिलाड़ी के साथ जोड़ी बनाने की दशा में लंदन ओलंपिक से हटने की धमकी दी थी। पेस ने एआइटीए से कहा कि वह देश के चोटी के खिलाड़ी हैं और एटीपी रैंकिंग में सातवें नंबर पर हैं। वह केवल इसलिए जूनियर खिलाड़ी के साथ जोड़ी बनाने के लिए तैयार नहीं हैं, क्योंकि महेश भूपति और रोहन बोपन्ना उनके साथ जोड़ी नहीं बनाना चाहते। पेस ने एआइटीए को लिखे पत्र में कहा कि यदि महेश और रोहन देश के लिए मेरे साथ खेलने के लिए तैयार नहीं हैं तो फिर एआइटीए अगले जिस भी सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का चयन करेगा मैं उसकेसाथ खेलने के लिए तैयार हूं।