19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
पेनेटा हुई चितिंत
22-06-2012

वाशिंगटन। अमरीकी रक्षामंत्री लियोन पेनेटा ने लीबिया से लूटी गई अत्याधुनिक मिसाइलों के सीरियाई विद्रोहियों अथवा अलकायदा जैसे आतंकी समूहों के हाथों में पड़ जाने की आशंका पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे पश्चिमी हितों को खतरा हो सकता है। पेनेटा ने चिंता जताते हुए कहा कि कंधे से दागी जाने वाली विमान भेदी मिसाइलें मैनपैडस सीरियाई विद्रोहियों के हाथों लग सकती हैं। उन्होंने बताया कि लीबिया में मुअम्मर गद्दाफी के शासन का अंत होने के बाद ये मिसाइलें सेना से लूट ली गई थीं और फिर कालाबाजार तक जा पहुंची। मिसाइलें पहुंच सकती है सीरिया साथ ही कहा कि हमारी सबसे बडी चिंता इन मिसाइलों का पता लगाने की है। इनमें से कुछ सीरिया भी पहुंच सकती हैं लेकिन इनके दूसरे समूहों के हाथों में पड़ जाने की भी आशंका है। उन्हें अभी तक इन मिसाइलों के सीरियाई विद्रोहियों के हाथों में पडने संबंधी कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिली है। हालांकी इन मिसाइलों के सीरिया पहुंचने का अभी तक कोई स्पष्ट साक्ष्य मौजूद नहीं है। खुफिया अधिकारियों ने इस मुद्दे पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए बताया है कि अलकायदा समेत दूसरे कट्टरपंथी इस्लामी संगठन भी राष्ट्रपति बशर अल असद के खिलाफ् जारी मुहिम में विद्रोही खेमे के साथ लामबंद हो चुके हैं। वाशिंगटन पश्चिमी खुफिया जानकारों का मानना है कि बेशक हजारों की संख्या में नहीं सही लेकिन सैकडों की संख्या में इस तरह की मिसाइलें कर्नल गद्दाफी के आयुध से लूटे जाने के बाद पश्चिम एशिया में हथियारों के कालाबाजार में पहुंच चुकी हैं। अमरीकी खुफिया एजेंसी सीआईए के पूर्व अधिकारी ब्रूस रिडेल ने कहा है कि अलकायदा और उससे संबद्ध दुसरे संगठन सीरियाई विद्रोहियों में घुलमिल चुके हैं। रिडेल ने अपने तथ्यों को और वजनदार बनाने के लिए अयमान अल जवाहिरी जैसे कुख्यात अलकायदा सरगनाओं के भाषणों का भी इस्तेमाल किया।