19 February 2019



खेलकूद
श्रीलंका प्रीमियर लीग में गहरी रुचि
29-06-2012

कोलंबो.श्रीलंका प्रीमियर लीग (एसएलपीएल) में गहरी रुचि दिखाते हुए भारत के व्यावसायिक घरानों ने सभी सातों फ्रेंचाइजी खरीद ली हैं जबकि बीसीसीआई ने इस ट्वेंटी-20 क्रिकेट लीग में भारतीय खिलाडिय़ों को खेलने की स्वीकृति नहीं दी है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने पिछले साल भी लीग में अपने खिलाडिय़ों को नहीं खेलने दिया था जिसमें कारण श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड एसएलपीएल का पहला टूर्नामेंट टालना पड़ा था। वाधवा होल्डिंग्स ने वायंबा टीम के लिए सबसे ऊंची 50 लाख दो हजार अमेरिकी डॉलर की बोली लगाई जबकि नंबर वन स्पोट्र्स कंसल्टिंग ने कंदूराता टीम के लिए 49 लाख 80 हजार डॉलर की पेशकश की। द उवा और रुहूना टीम को क्रमश: सक्सेस स्पोट्र्स और पर्ल ओवरसीज ने 46 लाख डॉलर में खरीदा। बासनाहिरा के लिए इंडियन क्रिकेट डुंडी ने 43 लाख 30 हजार डॉलर की बोली लगाई जबकि उथुरा को रुद्र स्पोट्र्स ने 34 लाख डॉलर में खरीदा। वरुण बेवरेजेज ने नागेनहिरा टीम के लिए 32 लाख 20 हजार रुपए खर्च किए। एसएलपीएल के पहले टूर्नामेंट का आयोजन 10 अगस्त से होगा जबकि फाइनल 31 अगस्त को खेला जाएगा। मैचों का आयोजन कोलंबो और पल्लेकल में किया जाएगा। फ्रेंचाइजी अधिकतम 18 खिलाडिय़ों का पंजीकरण कर सकती हैं जिसमें छह विदेशी क्रिकेटर होंगे। टीम हालांकि सिर्फ दो विदेशी खिलाडिय़ों को ही अंतिम एकादश में खिला पाएंगी। एसएलसी प्रत्येक खिलाड़ी की कीमत 5 और 6 जुलाई को होने वाले खिलाडिय़ों के ड्राफ्ट में तय करेगा।