16 February 2019



खेलकूद
यूरो कप के फाइनल में इटली
29-06-2012

 वारसा [पोलैंड]। मारियो बालोटेली के दागे दो गोल की बदौलत पूर्व चैंपियन इटली ने गत उपविजेता जर्मनी को हराते हुए यूरो कप के फाइनल में प्रवेश कर लिया जहां उसका सामना विश्व चैंपियन स्पेन से होगा। पहले सेमीफाइनल में पेनाल्टी शूटआउट में पुर्तगाल को हराकर स्पेन लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचा था। यूरो कप का दूसरा सेमीफाइनल भी कांटे का रहा। इटली के स्ट्राइकर बालोटेली ने पहले हाफ में दो गोल ठोककर अपनी टीम को बढ़त दिला दी थी। इटली की टीम इस बढ़त को कायम रखने में कामयाब रही। निर्धारित समय पर मैच खत्म होने के बाद इंजुरी टाइम में मिले समय में जर्मनी ने अपना एकमात्र गोल दागा। 21 साल के मैनचेस्टर सिटी के स्टार स्ट्राइकर बालोटेली ने इससे पूर्व आयरलैंड के खिलाफ एकमात्र गोल दागा था ओर इसके बाद के मैचों में उन्होंने कई आसान मौके गंवाए जिससे उनकी खासी आलोचना भी हुई। लेकिन आज के मैच में दो गोल दागकर एक बार फिर जीत के नायक बन गए। तीन बार के चैंपियन जर्मनी की 2008 में यूरो कप का फाइनल मिली हार के बाद यह पहली हार है। इससे पूर्व उसने क्वालीफाइंग में 10 मुकाबले और यूरो कप में चार मुकाबले जीते थे। दूसरी ओर 1968 के बाद से ही यूरो कप जीतने का ख्वाब पालने वाली इटली एक बार फिर फाइनल में पहुंची है जहां उसका सामना दुनिया की शीर्ष और गत चैंपियन स्पेन से होगा। दोनों टीमों के बीच मुकाबला शानदार रहा। और 20वें मिनट में एंतोनियो कसानो के बेहतरीन क्रास को बालोटेली ने हेडर के जरिए गोल करके अपनी टीम को शुरुआती बढ़त दिला दी। एक गोल से पिछड़ने के बाद जर्मनी ने आक्रमण तेज कर दिया और बराबरी के प्रयास में जुट गए। लेकिन 35वें मिनट में बालोटेली ने रिकार्डो मोंटोलिवो के पास को गोल पोस्ट के दाएं कोने में गोल दागकर बढ़त 2-0 कर दिया। इसके बाद जर्मन टीम समर्थकों के जोरदार प्रोत्साहन के बावजूद गोल कर पाने में नाकाम रही। निर्धारित समय के बाद मिले चार मिनट के इंजुरी टाइम में जर्मनी ने एक गोल दागने में सफलता पाई। जर्मन टीम को एक पेनाल्टी मिली और ओजिल ने इसे गोल में तब्दील कर दिया। इसके बाद जर्मनी बराबरी का गोल नहीं कर सकी और सेमीफाइनल से ही बाहर होना पड़ा।