18 February 2019



खेलकूद
विंबलडन से शारापोवा हुई बाहर
03-07-2012

विंबलडन [दिलीप मेहता]। शीर्ष खिलाड़ियों का टूर्नामेंट से बाहर होने का सिलसिला जारी है और इस फेहरिस्त में तब एक और नाम जुड़ गया जब शीर्ष वरीयता प्राप्त मारिया शारापोवा को विंबलडन टेनिस चैंपियनशिप के चौथे दौर में सबिने लिसिकी के हाथों हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ ही शारापोवा का लगातार दूसरा ग्रैंड स्लैम जीतने का सपना भी टूट गया। पिछले चार में से तीन ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में और पिछले महीने फ्रेंच ओपन खिताब जीतने के बाद दुनिया की नंबर एक शारापोवा को यहां खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था, लेकिन कोर्ट नंबर एक पर लिसिकी ने 2004 की चैंपियन शारापोवा को एक घंटे, 23 मिनट में सीधे सेटों में 6-4, 6-3 से हरा दिया। इस जीत के साथ ही विश्व की 15वें क्रम की जर्मनी की सबिने लिसिकी ने पिछले साल यहीं पर शारापोवा के हाथों सेमीफाइनल में मिली हार का बदला भी चुका लिया। लिसिस्की अपना पहला सर्व गेम हार गईं, लेकिन इसके बाद उनके खेल में जबरदस्त बदलाव आया। लिसिकी ने शक्तिशाली स्ट्रोक्स से दूसरे और फिर चौथे गेम में शारापोवा की सर्व भंग की। शारापोवा ने नौंवे गेम में ब्रेक के साथ अपनी सर्व बरकरार रखी और 5-5 की बराबरी कर ली, लेकिन महत्वपूर्ण मौके पर रूसी खिलाड़ी लय के साथ सíवस गंवा बैठीं और लिसिस्की ने सेट अपने कब्जे में कर लिया। प्रशंसकों को उम्मीद थी कि शारापोवा अगले सेट में वापसी करेंगी, लेकिन लिसिकी ने इस खतरे को पहले ही भांपते हुए अपनी रणनीति बदली। दूसरे सेट के दूसरे ही गेम में जर्मन खिलाड़ी ने ब्रेक हासिल किया। इसके बाद शारापोवा पूरी तरह रक्षात्मक दिखाई दीं। यहां से लिसिकी हर तरह से शारापोवा पर हावी दिखाई दीं। जोरदार विनर्स के साथ ही लिसिकी को शारापोवा की गलतियों का भी फायदा मिला और उन्होंने लगातार दूसरी बार टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। अगले दौर में लिसिकी का सामना हमवतन आठवीं वरीयता प्राप्त एंजेलिक कर्बर से होगा। चार बार की चैंपियन सेरेना विलियम्स को यहां दसवीं बार क्वार्टर फाइनल में पहुंचने के लिए कजाखिस्तान की युवा सनसनी यारोस्लावा श्वेदोवा से तीन सेटों तक संघर्ष करना पड़ा। छठी वरीयता प्राप्त सेरेना ने गैर वरीयता कजाख खिलाड़ी को एक घंटा, 54 मिनट में 6-1, 2-6, 7-5 से हराकर अंतिम आठ में प्रवेश कर लिया। कोर्ट नंबर दो पर सेरेना शुरआत में बेहद ही आक्रामक मूड में दिखाई दे रही थीं, लेकिन 65वें क्रम की श्वेडोवा ने दूसरे सेट के बाद उन्हें काफी संघर्ष कराया। अपने तीसरे दौर के मैच में एक सेट में सभी 24 अंक जीतकर 'गोल्डन सेट' बनाने वाली श्वेदोवा 13 ग्रैंड स्लैम जीत चुकीं सेरेना के खिलाफ यह कारनामा नहीं दोहरा सकीं। मंगलवार को क्वार्टर फाइनल में सेरेना का सामना गत विजेता और चौथी वरीयता प्राप्त पेट्रा क्वितोवा से होगा। क्वितोवा ने एक सेट से पिछड़ने के बाद वापसी कर तीन सेटों के संघर्ष के बाद 2010 की फ्रेंच ओपन चैंपियन फ्रांसिस्का शियावोन को 4-6, 7-5, 6-1 से हराया। ऑस्ट्रिया की तमिरा पाश्चेक ने 21वीं वरीयता प्राप्त इटली की रॉबर्टा ¨वसी को आसानी से 6-2, 6-2 से हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। फेडरर व जोकोविक अंतिम आठ में : पुरुषों में छह बार के चैंपियन स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने चोट के खतरे से उबरते हुए लगातार 33वीं बार ग्रैंड स्लैम के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। तीसरी वरीयता प्राप्त फेडरर ने चौथे दौर में बेल्जियम के जेवियर मेलिसे को चार सेटों में हराया। सेंटर कोर्ट पर बारिश और ठंडे मौसम के बीच फेडरर ने 7-6, 6-1, 4-6, 6-3 से जीत दर्जकर अंतिम आठ में प्रवेश किया। पीठ में परेशानी के कारण फेडरर को काफी संघर्ष करना पड़ा और उन्हें पहले सेट के आठवें गेम में इलाज भी कराना पड़ा। फेडरर अगले मैच में 26वीं वरीयता प्राप्त रूस के मिखाइल यूझनी से भिड़ेंगे। यूझनी ने गैर वरीयता प्राप्त उज्बेकिस्तान के डेनिस इस्टोमिन को चार घंटे 16 मिनट तक चले मैराथन मैच में 6-3, 5-7, 6-4, 6-7, 7-5 से हराया। विश्व के नंबर एक खिलाड़ी सíबया के नोवाक जोकोविक को चौथे दौर का मुकाबला जीतने में कोई परेशानी नहीं हुई। सेंटर कोर्ट पर जोकोविक ने हमवतन विक्टोर ट्रोइस्की को आसानी से 6-3, 6-1, 6-3 से हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। अगले दौर में उनका सामना फ्रांस के रिचर्ड गासक्वेट या जर्मनी के फ्लोरियन मेयर से होगा।