19 February 2019



खेलकूद
दुनिया की नंबर एक तीरंदाज होने का दबाव नहीं
03-07-2012

नई दिल्ली। लंदन ओलंपिक खेलों में पदक की प्रबल दावेदार मानी जा रही दीपिका कुमारी ने सोमवार को कहा कि उन पर दुनिया की नंबर एक तीरंदाज होने का दबाव नहीं है और वह किसी भी परिस्थिति में पदक जीतने के लिए प्रतिबद्ध हैं। 18 वर्षीय दीपिका ने कहा, 'यह मेरा पहला ओलंपिक है और इसलिए मैं आत्मविश्वास से ओतप्रोत हूं। मुझे पता है कि मैं अभी दुनिया की नंबर एक तीरंदाज हूं और मुझसे काफी अपेक्षाएं की जा रही हैं लेकिन इसका मुझ पर किसी तरह का दबाव नहीं है। नंबर एक बनने से मेरा आत्मविश्वास बढ़ा है, लेकिन मैं इससे बहुत अधिक खुश नहीं हूं। मुझे सबसे ज्यादा खुशी ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने पर ही मिलेगी। वैसे अभी हमारा लक्ष्य पदक हासिल करना है क्योंकि हमें पता है कि विश्व कप आदि में अच्छे प्रदर्शन से जब तीरंदाजी भारत में महत्वपूर्ण खेल बन गया है तो फिर ओलंपिक पदक इस खेल को किस ऊंचाई पर पहुंचाएगा।'