19 February 2019



राष्ट्रीय
शेंट्टार को मिल सकती है कर्नाटक के मुख्यमंत्री की कमान
04-07-2012

नई दिल्ली। राष्ट्रपति चुनाव के बाद पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येद्दयुरप्पा समर्थक लिंगायत नेता जगदीश शेंट्टार कर्नाटक के नए मुख्यमंत्री हो सकते हैं। भाजपा आलाकमान द्वारा मंगलवार को अलग-अलग स्तर पर मुख्यमंत्री सदानंद गौड़ा, जगदीश शेंट्टार और दूसरे नेताओं से मुलाकात के दौर में उन्हें राष्ट्रपति चुनाव तक रुकने का आग्रह किया गया।पिछले दो दिनों से दिल्ली में डेरा जमाए कर्नाटक के नेताओं ने मंगलवार को लगातार कई बैठकें कीं। सुबह पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राजनाथ सिंह से मुलाकात की तो दोपहर पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी के आवास पर बैठक हुई। अलग-अलग भी इन नेताओं की आपस में चर्चा होती रही और फोन पर येद्दयुरप्पा को इसकी जानकारी भी दी जाती रही। बाद में कर्नाटक के प्रभारी महासचिव धर्मेद्र प्रधान ने कहा कि सभी नेताओं से बातचीत पूरी हो गई है। सही वक्त पर निर्णय लिया जाएगा।इससे पहले प्रदेश पार्टी अध्यक्ष के एस ईश्वरप्पा कहा कि भाजपा संसदीय बोर्ड मौजूदा संकट के समाधान के बारे में निर्णय करेगा जो हम सब पर बाध्यकारी होगा। संसदीय बोर्ड निर्णय लेने वाली भाजपा की शीर्ष इकाई है। उन्होंने कहा कि कर्नाटक भाजपा में नेताओं के बीच मतभेद ऐसे नहीं हैं कि उनका समाधान नहीं ढूंढा जा सके।प्रारंभिक समझौते के तहत गौड़ा को मुख्यमंत्री पद से हटाने की माग पर इस्तीफा देने वाले येद्दयुरप्पा समर्थक राज्य के नौ मंत्रियों ने अपने त्यागपत्र वापस ले लिए हैं। इन मंत्रियों ने भाजपा आलाकमान के इस आश्वासन पर अपने इस्तीफे वापस लिए हैं कि शेट्टार को मुख्यमंत्री बनाए जाने की उनकी माग पर सकारात्मक फैसला किया जाएगा। बताते हैं कि केंद्रीय नेतृत्व इस मसले को राष्ट्रपति चुनाव तक टालना चाहता है। लेकिन 16 जुलाई से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र ने उलझनें बढ़ा दी हैं। इस आशंका को खारिज नहीं किया जा सकता है कि सत्र से पहले कोई ठोस उपाय नहीं किए गए तो बड़ी फजीहत हो सकती है। येद्दयुरप्पा समर्थकों का दबाव है कि इससे पहले ही नेतृत्व परिवर्तन हो जाए। मंगलवार को शेंट्टार को छोड़कर बाकी नेता वापस बेंगलूर जा चुके हैं। जबकि केंद्रीय नेतृत्व के बीच विचार-विमर्श का दौर देर शाम तक जारी रहा।