17 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
ब्रह्मांड के बनने के कई रहस्यों से उठेगा आज पर्दा
04-07-2012

जिनेवा। वैज्ञानिक हिग्स बोसॉन (गॉड्स पार्टिकल) को लेकर चल रहे शोध के नतीजों की घोषणा करने वाले हैं। बुधवार को इसके परिणाम आने की उम्मीद है। वैज्ञानिकों का दावा है कि इसके बाद ब्रह्मांड के बनने के कई रहस्यों से पर्दा उठ जाएगा। ऑर्गनाइजेशन फॉर न्यूक्लियर रिसर्च (सर्न) ने पीटर हिग्स समेत दुनिया के पांच जाने-माने भौतिकविदों को जिनेवा बुलाया है। वैज्ञानिकों ने गॉड्स पार्टिकल मिलने को लेकर 99.99 फीसदी तक पक्का होने का दावा किया है।
पीटर हिग्स एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हैं। उन्होंने ही सबसे पहले गॉड्स पार्टिकल की अवधारणा दी थी। दुनियाभर के वैज्ञानिक फ्रांस और स्विट्जरलैंड की सीमा पर जेनेवा में सबसे बड़ी प्रयोगशाला में गॉड्स पार्टिकल पर कई साल से काम कर रहे हैं। यह प्रयोगशाला जमीन के 300 फीट नीचे बनी है। प्रयोग 27 किमी लंबे लार्ज हेड्रोन कोलाइडर (एलएचसी) में चल रहा है।
जमीन के नीचे महाविस्फोट वैज्ञानिक बिग बैंग थ्योरी की सच्चाई जानने की कोशिश कर रहे हैं। अब तक माना जाता है कि 13.7 खरब साल पहले हुए महा विस्फोट (बिग बैंग) से ब्रह्मांड अस्तित्व में आया। इसी दौरान हिग्स बोसॉन नामक कण का जन्म हुआ। हिग्स बोसॉन से ही सभी चीजों की उत्पत्ति हुई है। एलएचसी में कृत्रिम तरीके से महा विस्फोट की स्थिति पैदा की गई। आयनों की टक्कर से एलएचसी में 10 खरब सेल्सियस का तापमान पैदा किया गया। यह सूरज के केंद्र में मौजूद तापमान से भी लाखों गुना ज्यादा है। वैज्ञानिक इसी प्रयोग के परिणाम की घोषणा करेंगे।