16 February 2019



राष्ट्रीय
भारत के आरोप सरासर गलत
05-07-2012

नई दिल्ली। मुंबई हमले के मामले में इतने सुबूत सामने आने के बावजूद पाकिस्तान इस बार भी टस से मस नहीं हुआ। नई दिल्ली में भारतीय विदेश सचिव रंजन मथाई के साथ साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान के विदेश सचिव जलील अब्बास जिलानी ने कहा कि मुंबई हमलों को लेकर भारत के आरोप सरासर गलत हैं। उन्होंने सफाई दी कि मुंबई हमले में आइएसआइ जैसी किसी भी पाकिस्तानी सरकारी एजेंसी का हाथ नहीं है। हालांकि उन्होंने हाल ही में भारत में गिरफ्तार मुंबई हमले की साजिशकर्ता अबू हमजा उर्फ अबू जुंदाल को लेकर साझा जांच का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि वह पाकिस्तान की ओर से दोस्ती का पैगाम लेकर आए हैं। जिलानी ने कहा, 'दोनों ही देश आतंकवाद का दंश झेल रहे हैं। इसलिए एक-दूसरे पर आरोप लगाने से कोई फायदा नहीं है। बातचीत से ही दोनों देशों के बीच भरोसा बढ़ेगा।' उन्होंने कहा कि भारत को हमें मुंबई हमले के और सुबूत देने होंगे। दोषियों को सजा दिलाना हमारी प्राथमिकता है। वहीं भारतीय विदेश सचिव रंजन मथाई ने कहा कि भारत 26/11 को लेकर पाकिस्तान को पर्याप्त सूबूत पहले ही दे चुका है। इसके अलावा दोनों देशों ने कश्मीर मुद्दे का भी शांतिपूर्ण हल निकालने की