16 February 2019



राष्ट्रीय
जुंदाल का हमजा के बारे में सनसनीखेज रहस्योदघाटन
09-07-2012

नई दिल्ली। भारत के खिलाफ आतंकवादियों की साजिश से सिलसिलेवार पर्दा उठा रहे अबू जुंदाल ने अब कुख्यात आतंकी अबू हमजा के बारे में सनसनीखेज रहस्योदघाटन किया है। उसका कहना है कि मुंबई के हमलावरों को हथियार चलाने की ट्रेनिंग देने वाला आतंकवादी हमजा मर चुका है। हमजा 2005 में बेंगलूर के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस पर आतंकी हमला करने के मामले में भी शामिल रहा है। इसके अलावा भारत में हुए कई आतंकी हमलों में भी उसका हाथ रहा है।दिल्ली पुलिस की पूछताछ में 30 वर्षीय जुंदाल ने बताया कि हमजा की 2009 में ही मौत हो गई थी। जांचकर्ताओं के समक्ष जुंदाल ने यह भी दावा किया है कि उसने हमजा के अंतिम संस्कार में भाग लिया था। उसके मुताबिक हमजा की मौत 39 वर्ष की उम्र में रहस्यमय बीमारी से हुई थी। हमजा का वास्तविक नाम मुहम्मद रमदान मुहम्मद सिद्दीकी बताया गया है। जुंदाल से की गई पूछताछ से पता चलता है कि 2010 में मुंबई पुलिस द्वारा इंटरपोल को रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के वक्त हमजा मर चुका था। हमजा का नाम उस समय ज्यादा चर्चा में आया, जब महाराष्ट्र एटीएस ने दावा किया कि 26/11 हमले को लेकर कराची स्थित नियंत्रण कक्ष से जिन लोगों की आवाज आ रही थी, उनमें से एक आवाज हमजा की भी थी। जुंदाल के दावे से इस बात में विरोधाभास प्रतीत होता है। वैसे दिल्ली पुलिस ने जुंदाल से की जा रही पूछताछ की एक प्रति गृह मंत्रालय को भी भेजी है। रिपोर्ट के मुताबिक जुंदाल ने लश्कर-ए-तैयबा के विभिन्न कमांडरों के साथ अपने संबंधों की जानकारी दी है। उसने इस आतंकी संगठन के संस्थापक हाफिज सईद के साथ बैठक के बारे में भी जांचकर्ताओं को बताया है।