16 February 2019



राष्ट्रीय
लैला की हत्या के संबंध में बेहद सनसनीखेज खुलासा
09-07-2012

मुंबई। बालीवुड अभिनेत्री लैला खान की हत्या के आरोपी परवेज टाक ने लैला की हत्या के संबंध में बेहद सनसनीखेज खुलासा किया है। उसने पुलिस पूछताछ में बताया है कि उसने लैला खान और उसके परिवार को लोहे की रॉड से पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया था।परवेज टाक के मुताबिक उसने लैला को इसलिए मारा क्योंकि लैला ने उसको लैला की मा सलीना की हत्या करते देख लिया था। इसके बाद उसने फार्म हाउस के चौकीदार शाकिर के साथ मिलकर पूरे परिवार की हत्या कर दी। हत्या के बाद परवेजने लैला और उसके पूरे परिवार के शव जमीन में दफना दिए और लैला के फार्म हाउस में आग लगा दी। परेवज इकबाल टाक ने पुलिस को ये भी बताया है कि उसने लैला खान और उसके परिवार की लाश को कहा दफन किया है। हालांकि मुंबई पुलिस परवेज के खुलासे पर पूरी तरह से भरोसा नहीं कर रही हो। जानकारी के मुताबिक परवेज ने अपने कबूलनामे में और भी कई खुलासे किए हैं।परवेज से मिली जानकारी के मुताबिक उसने सबसे पहले लैला की मां सेलिना पटेल को मौत के घाट उतारा। इसके बाद उसने शाकिर के साथ मिलकर नासिक के इगतपुरी फॉर्म हाउस में एक एक कर लैला समेत परिवार के सभी छह सदस्यों को मौत के घाट उतार दिया।पुलिस को मिली जानकारी के मुताबिक लैला खान दुबई में बसकर अंडरव‌र्ल्ड डान दाऊद के सहयोगी कमाल यादवानी के बेटे सोनू उर्फ वूफी खान से शादी करना चाहती थी। परवेज लैला की सारी संपत्ति पर कब्जा करना चाहता था लेकिन लैला की मां अपने दूसरे पति आसिफ शेख को सारी संपत्ति सौंप दी थी। जिससे परवेज खफा था और उसने पूरे परिवार को खत्म कर दिया। सभी छह लोगों की हत्या करने के बाद रात को इकबाल और शाकिर लाशों को गाड़ी में भरकर इगतपुरी फॉर्म हाउस के पास ही मौजूद पास के एक जंगल में ले गए। सूत्रों के मुताबिक वहा उन्होंने लाशों को एक के बाद एक गडढ़े में गहनों के साथ ही दबा दिया।इसके बाद इकबाल और उसका दोस्त शाकिर लैला की दो गाड़ियों को लेकर जम्मू आ गए जहा एक गाड़ी उसने जम्मू के नेहरू मार्केट में लावारिस हालत में छोड़ दी। जबकि दूसरी गाड़ी लेकर वो किश्तवाड़ पहुंच गए। यहा उसने दूसरी गाड़ी को अपने ही एक किराए की दुकान में छुपा दिया। जिसे बाद में पुलिस ने बरामद किया। इससे पहले परवेज ने बयान देकर कहा था कि लैला दुबई चली गई है। परवेज ने जम्मू-कश्मीर पुलिस से कहा कि लैला की नौ फरवरी दो हजार ग्यारह को हत्या कर दी गई है। परवेज अभी मुंबई पुलिस की हिरासत में है और शाकिर फरार है।