15 February 2019



राष्ट्रीय
पिंकी हुई जेल से रिहा
11-07-2012

कोलकाता। एशियाई खेलों की स्वर्ण पदक विजेता पिंकी प्रमाणिक 26 दिन जेल में रहने के बाद बुधवार को दमदम जेल से रिहा हो गई। उत्तर 24 परगना जिले की अदालत ने 25 दिन न्यायिक हिरासत में बिताने के बाद मंगलवार को जमानत दी। रिहा होने के बाद उसने अपने ऊपर लगे दुष्कर्म के आरोपों को खारिज कर दिया।पिंकी को उस समय गिरफ्तार किया गया था जब एक महिला ने आरोप लगाया था कि वह एक पुरुष है और उसने उसके साथ दुष्कर्म किया। पिंकी को बरासात की अदालत ने जमानत दी।इससे पहले सोमवार को एसएसकेएल अस्पताल को पिंकी के क्रोमोसोम पैटर्न टेस्ट की रिपोर्ट मिली थी जिसके आधार पर उनके लिंग का निर्धारण होना है। इस एथलीट को 14 जून को उस समय गिरफ्तार किया गया जब उनके साथ रह रही 30 बरस की महिला ने आरोप लगाया कि वह पुरुष है और उसने उसका दुष्कर्म भी किया।इसके अलावा कोलकाता हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका भी दायर की गई जिसमें इस एथलीट पर गैरमानवीय प्रताड़ना करने का आरोप लगाया गया है। अदालत ने राज्य सरकार को निर्देश दिया है कि वह जाच की प्रगति पर दो हफ्ते के भीतर हलफनामा दायर करे।पश्चिम बंगाल मानवाधिकार आयोग ने भी इस मामले में कदम उठाते हुए गृह, स्वास्थ्य और पुलिस विभाग को निर्देश दिया था कि वे पुलिस और जेल हिरासत में इस एथलीट को दी जा रही प्रताड़ना के आरोपों की जाच करें।पिंकी ने 2006 दोहा एशियाई खेलों की चार गुणा 400 मीटर रिले में स्वर्ण और 2006 मेलबर्न राष्ट्रमंडल खेलों में इसी स्पर्धा में रजत पदक जीता था।