19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
लश्कर अलकायदा से ज्यादा ताकतवर और खतरनाक
11-07-2012

वाशिंगटन। अमेरिकी विशेषज्ञ ने लश्कर-ए-तैयबा को दुनिया का सबसे खूंखार आतंकी गुट बताया है। हैं। अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के एक पूर्व विश्लेषक के मुताबिक पाकिस्तान से मिलने वाले समर्थन के चलते लश्कर अब अलकायदा से ज्यादा ताकतवर और खतरनाक बन गया है।वाशिगटन में विदेश नीति के एक थिक टैंक ब्रुकिंग्स इंस्टीट्यूशन से जुड़े एक वरिष्ठ विशेषज्ञ ब्रूस रिडेल ने द डेली बीस्ट में लिखा है कि लश्कर द्वारा भारतीय शहर मुंबई में नवंबर 2008 में कई जगहों पर किया गया आतंकी हमला, दुनिया में 9/11 के बाद का सबसे बड़ा आतंकी हमला था।उन्होंने अपनी किताब में लिखा है कि मुंबई हमले ने दुनिया को बता दिया कि लश्कर अब महज भारत को निशाना बनाने वाला पाकिस्तानी पंजाब का एक आतंकी गुट नहीं रहा है। वह अब अंतरराष्ट्रीय इस्लामी जिहाद का हिस्सा बन चुका है और वह पश्चिमी देशों, यहूदी इजरायल और हिंदू भारत जैसे अलकायदा के दुश्मनों को निशाना बनाने के लिए तैयार है।उनका मानना है कि मुंबई हमले के साजिशकर्ताओं में से एक सैयद जबिउद्दीन अंसारी उर्फ अबू जुंदाल का पकड़ा जाना इन हमलों का जाच में काफी अहम साबित हो सकता है। अंसारी के पकड़े जाने में सऊदी अरब की सरकार की भूमिका के बारे में उन्होंने लिखा है कि अगर सऊदी अरब, लश्कर के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए राजी हो गया है तो इससे लश्कर को आर्थिक परेशानी झेलनी पड़ेगी। इसकी वजह है कि इंग्लैंड और खाड़ी के देशों में रह रही पाकिस्तानी बिरादरी, उसकी आमदनी का बहुत बड़ा जरिया रही है।उनका मानना है कि पाकिस्तान में लश्कर के लोग खुलेआम घूमते हैं और वहा के खुफिया और सुरक्षा तंत्र में उनके अच्छे-खास रिश्ते भी हैं। ऐसे में संभवत: पस्त होते दिख रहे अलकायदा की बजाय लश्कर ही दुनिया का सबसे खूंखार आतंकी गुट बन गया है।