18 February 2019



खेलकूद
सचिन ने बताया शीर्ष में बने रहने का प्रमुख कारण
11-07-2012

नई दिल्ली। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का मानना है कि क्रिकेट से उनका 'पागलों जैसा प्यार' ही दो दशकों तक इस खेल में उनके शीर्ष में बने रहने का प्रमुख कारण रहा है। साथ ही श्रीलंकाई दौरे पर नहीं जाने के कारणों पर अपनी सफाई भी दी। यह पूछे जाने पर कि चोटी के खिलाड़ियों को खुद को विभिन्न पहलुओं जैसे कि दबाव और चोटों से खुद को कैसे बचाना चाहिए इस पर तेंदुलकर ने कहा, 'मैं आपका जवाब क्रिकेटर के नजरिए से दे सकता हूं। आपको क्रिकेट से बेइंतहा प्यार करना होगा। क्रिकेट मैदान पर नींव डालने से पहले आपको अपने दिल में क्रिकेट की मजबूत नींव डालनी होगी, तभी आप निरंतर आगे बढ़ते रह सकते हैं। तेंदुलकर ने ईएसपीएन के स्पो‌र्ट्स सेंटर कार्यक्रम में इस स्टार बल्लेबाज ने स्पष्टीकरण दिया कि अपने बच्चों के साथ पर्याप्त समय बिताने की जरूरत के कारण उन्होंने श्रीलंका में होने वाली वनडे सीरीज से खुद को अलग रखा। उन्होंने कहा कि यह स्कूल की छुट्टियों का समय था। यदि मैं श्रीलंका जाने का फैसला करता तो मुझे तभी से तैयारिया शुरू करनी पड़ती, लेकिन मैं अपने बच्चों के साथ समय बिताना चाहता हूं क्योंकि इसके बाद मैं अगले दस महीने तक लगातार खेलता रहूंगा। तेंदुलकर ने कहा कि वह अपने बेटे अर्जुन या बेटी सारा पर कभी दबाव नहीं बनाएंगे और उन्हें अपनी पसंद का करियर चुनने की छूट देंगे। उन्होंने बताया कि अर्जुन क्रिकेट का दीवाना है, जबकि सारा का रुझान मेडिकल की तरफ है। प्रत्येक इंसान अलग होता है। मैं उनका मार्गदर्शन और सहयोग करना चाहता हूं। मैं उन्हें केवल शुभकामनाएं दूंगा और उनसे कहूंगा कि वे जो भी करें उसका पूरा लुत्फ उठाएं।