19 February 2019



खेलकूद
बीसीसीआइ के फैसले का स्वागत
17-07-2012

लाहौर। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड [पीसीबी] के अध्यक्ष जका अशरफ ने भारत में दिसंबर में होने वाली सीमित ओवरों की सीरीज से द्विपक्षीय क्रिकेट संबंध बहालकरने के बीसीसीआइ के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि इससे दोनों देशों के संबंधों में सुधार होगा। अशरफ के अलावा पाक के कई पूर्व क्रिकेटरों ने भी बीसीसीआइ के फैसले का स्वागत किया है। अशरफ ने कहा कि बीसीसीआइ अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने उन्हें फोन करकेतीन वनडे और दो टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के आयोजन की पुष्टि की। उन्होंने कहा, 'बीसीसीआइ ने कहा कि दिसंबर में क्रिसमस के बाद और जनवरी के शुरू में उनके पास समय है, क्योंकि वे इंग्लैंड की भी मेजबानी करेंगे। हम इस निमंत्रण से बेहद खुश हैं और इसे दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों की बहाली की दिशा में बड़ा कदम मानते हैं। इस सीरीज से दोनों देशों के बीच संबंधों में सुधार होगा। बीसीसीआइ का यह आमंत्रण पिछले कुछ महीनों से द्विपक्षीय रिश्ते शुरू करने के लिए दोनों बोर्ड के प्रयास का परिणाम है, जिसका दोनों सरकारों ने भी स्वागत किया था।' उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा कि जब इस साल चैंपियंस लीग के लिए हमारी घरेलू टी-20 टीम को बीसीसीआइ ने आमंत्रित किया तो मुझे लगा कि इस रिश्ते को आगे बढ़ाया जा सकता है। भारत ने दिसंबर, 2008 में मुंबई आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान से क्रिकेट रिश्ते तोड़ दिए थे। अशरफ ने कहा कि मुझे पक्का विश्वास है कि दोनों देशों के करोड़ों खेल प्रशसक इस फैसले से खुश होंगे। उन्होंने कहा कि भारत-पाक क्रिकेट मुकाबले खेल को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ावा देने के लिए भी आवश्यक हैं। पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ियों जावेद मियांदाद, आसिफ इकबाल, आमिर सुहैल, सरफराज नवाज और अब्दुल कादिर ने बीसीसीआइ की पहल की तारीफ की और कहा कि यह दोनों देशों के अच्छा है।