16 February 2019



राष्ट्रीय
दस आतंकियों की एक सर्वोच्च नियंत्रण कमेटी
19-07-2012

नई दिल्ली। 26/11 मुंबई हमलों के एक साल पहले पाकिस्तान में दस आतंकियों की एक सर्वोच्च नियंत्रण कमेटी बनाई गई थी। इन्हीं दस आतंकियों पर मुंबई हमले को अंजाम देने की पूरी जिम्मेदारी थी। सभी तरह के निर्णय लेने एवं रणनीति में बदलाव करने के लिए यह कमेटी स्वतंत्र थी। खुफिया एजेंसियों की गिरफ्त में आए अबू जुंदाल ने खुलासा किया है कि आइएसआइ के अधिकारियों ने खुद को इस कमेटी से दूर रखा था।सूत्रों के अनुसार, समय-समय पर यह कमेटी मीटिंग करती थी। कमेटी में आठवें स्थान पर शामिल अबू जुंदाल को बैठकों में कम बुलाया जाता था। कमेटी की कमान पूरी तरह लश्कर के हाथ में थी। जुंदाल से कहा जाता था कि वह बैठकों की चिंता न करे और अपना ध्यान आतंकियों की ट्रेनिंग पर दे, क्योंकि उसके ऊपर मुंबई हमले के दौरान बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई थी।अधिकारियों की मानें तो डेविड हेडली और मुंबई हमलों में पकडे़ गए अजमल कसाब के बयानों से अबू जुंदाल का खुलासा मेल खा रहा है। सुरक्षा एजेंसिया इसे काफी अहम मान रही हैं। हेडली ने अमेरिकी जांच एजेंसियों के समक्ष मुंबई हमलों में आइएसआइ व लश्कर की भूमिका का खुलासा किया था। इस लिहाज से अंतरराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान की कारगुजारियां जाहिर करने में अबू जुंदाल का बयान काफी महत्वपूर्ण हो गया है।कमेटी में शामिल दस आतंकी :-1.हाफिज सईद 2.जकी-उर-रहमान लखवी 3.मुजम्मिल 4.रेहान उर्फ जुनैद 5.अबू अल काफा 6.अबू अलकामा 7.अबू जरार 8.अबू जुंदाल उर्फ जबीउद्दीन 9.मेजर समीर 10.पाक सेना का एक अधिकारी