19 February 2019



खेलकूद
वनडे सीरीज से खुद को परखने का मिलेगा मौका
20-07-2012

कोलंबो। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का मानना है कि श्रीलंका के खिलाफ आगामी वनडे सीरीज से उनकी टीम को खुद को परखने का मौका मिलेगा और यह भी पता चलेगा कि किन पहलुओं पर सुधार करने की जरूरत है।बुधवार को यहां भारतीय टीम के पांच वनडे और एक ट्वेंटी-20 मैच खेलने के पहुंचने के थोड़ी देर बाद धौनी ने कहा, 'यह सत्र की शुरुआत है। हमें कुछ क्षेत्रों में सुधार करना होगा, ताकि लगातार अच्छा खेल सकें। खुद को आंकने का यह अच्छा मौका है।श्रीलंका में सितंबर में टी-20 विश्व कप होना है, लेकिन धौनी ने कहा कि फिलहाल उनका पूरा ध्यान आगामी सीरीज पर है। उन्होंने कहा, 'सबसे महत्वपूर्ण वर्तमान के बारे में सोचना है। हम अभी इस सीरीज के बारे में ही सोच रहे हैं, विश्वकप के बारे में नहीं। अच्छी बात यह है कि मौजूदा टीम के अधिकांश सदस्य टी-20 विश्व कप टीम में भी होंगे। हम अभी वाकई उसके बारे में नहीं सोच रहे हैं।' डेढ महीने के ब्रेक के बाद लौटी भारतीय टीम ने आर प्रेमदासा स्टेडियम पर अभ्यास किया। धौनी ने कहा कि हम बुधवार को ही यहा पहुंचे हैं और दोपहर 4.30 बजे तक अभ्यास शुरू कर दिया। सबसे अच्छी बात खिलाड़ियों का उत्साह है और हम फिटनेस पर अधिक मेहनत कर सकते हैं।'लगातार अच्छा प्रदर्शन करना जरूरी : जयव‌र्द्धने कोलंबो। पाकिस्तान के खिलाफ वनडे और टेस्ट सीरीज जीतने के बाद श्रीलंकाई कप्तान महेला जयव‌र्द्धने ने कहा कि उनकी टीम भारत से वनडे सीरीज में भी जीत की लय बरकरार रखना चाहेगी। जयव‌र्द्धने ने शनिवार को होने वाले एकमात्र टी-20 मैच से पहले कहा, 'हमने हाल ही में पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया है। अहम बात जीत के सिलसिले को कायम रखना है। उन्होंने कहा कि हमें अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी।'उन्होंने कहा कि भारत के खिलाफ यह सुनहरा मौका है। हमें टीम को आगे ले जाना है। टीम में कुछ नए खिलाड़ियों को शामिल किया गया है। हमें टी-20 विश्व कप के बारे में भी सोचना है।यूडीआरएस का इस्तेमाल नहीं :इस सीरीज में अंपायर निर्णय समीक्षा प्रणाली [यूडीआरएस] लागू नहीं होगा, क्योंकि भारत शुरू से उसका विरोध करता आया है। श्रीलंका क्रिकेट के सचिव निशात रणतुंगा ने कहा, 'आइसीसी दशा निर्देशों के तहत यूडीआरएस लागू करने के लिए दोनों टीमों का सहमत होना जरूरी है। भारतीय बोर्ड यूडीआरएस के पक्ष में नहीं है। यह फैसला आइसीसी स्तर पर लिया गया है।' दोनों टीमें गुरुवार को हंबनटोटा के लिए रवाना होंगी।