17 February 2019



प्रादेशिक
विधायकों की बर्खास्तगी के मामले में बीजेपी तथा कांग्रेस दोनों ही सुलह को तैयार
21-07-2012

बीजेपी के ठेकेदार दिलीप सूर्यवंशी के भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जमकर गरज बरस रही कांग्रेस फिर से सिकुड़ गई है। कांग्रेस के जिन दो विधायकों कल्पना परुलेकर तथा राकेश चतुर्वेदी को विधानसभा अध्यक्ष ने बर्खास्त किया था उन दोनों विधायकों ने अध्यक्ष को पत्र लिखकर माफी मांग ली है। उधर बीजेपी हाईकमान ने भी प्रदेश के बीजेपी नेताओं को जमकर ठांसा है। बीजेपी नेताओं का कहना है कि विधायकों की बर्खास्तगी का मुद्दा देकर ख्माहख्वाह कांग्रेसियों को एकजुट होने का मौका दिया गया। बीजेपी हाईकमान ने पूरे मामले को सुलटाने के लिए कहा है। बीजेपी नेता अब विधायकों की वापसी का रास्ता तलाशने में लगे हैं। इस मामले में विशेष सत्र बुलाकर दोनों विधायको की वापसी कराई जाएगी साथ ही चुनाव आयोग को जो आनन फानन में सूचना भेजी गई है उस पर भी कार्रवाई रुकवाई जाएगी। लेकिन लाख टके का सवाल यह है कि चुनाव आयोग ने जिन दो सीटों को रिक्त घोषित कर दिया है उन्हें वापस कैसे लेगा। कुल मिलाकर अदूरदर्शिता और जल्दबाजी और फिर माफी में कांग्रेस बीजेपी को समान रंग दे दिया है। भ्रष्टाचार का मामला अब कांग्रेस उठाएगी या नहीं इस पर भी कांग्रेसी मौन हैं।