19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
पाकिस्तान में आतंकी हमलें
23-07-2012

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में आतंकियों के अलग-अलग हमलों में छह बच्चों सहित कम से कम 26 लोगों की मौत हो गई। मृतकों में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) का एक कर्मचारी भी है।देश के पश्चिमोत्तर कबायली इलाके में शनिवार को पाच बच्चों सहित कम से कम नौ लोगों की तब मौत हो गई, जब विस्फोटकों से लदा वाहन एक घर में घुस गया। इस घर को एक आतंकी गुट मुख्यालय के रूप में इस्तेमाल कर रहा था। सरकारी समाचार चैनल के अनुसार, संघ शासित कबायली इलाके (एफएटीए) में कुर्रम के स्पीन ताल इलाके में स्थित मौलाना नबी हनफी के नेतृत्व वाले आतंकी गुट के मुख्यालय पर यह हमला दोपहर एक बजे हुआ। जब हमला हुआ, उस समय पाच बच्चे स्कूल से पढ़कर घर लौट रहे थे। घटना में मारे गए अन्य सभी आतंकी थे। हमले में 20 व्यक्ति घायल भी हुए हैं। अब तक किसी ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, पर बताया जाता है कि यह घटना मौलाना हाफिज जियाउर रहमान और हनफी के नेतृत्व वाले दो आतंकी गुटों के बीच आपसी झगड़े का परिणाम हो सकती है।डब्ल्यूएचओ ने शनिवार को जेनेवा से एक बयान में कहा कि पोलियो उन्मूलन से जुड़े एक कार्यकर्ता की शुक्रवार शाम कराची के गदप टाउन में हत्या कर दी गई। मृतक की पहचान मुहम्मद इशाक के रूप में हुई है। वह राष्ट्रीय पोलियो उन्मूलन कार्यक्रम से महीनों से जुड़ा हुआ था। डब्ल्यूएचओ कर्मियों को लक्ष्य कर किया गया सप्ताह का यह दूसरा हमला था।इसके अलावा दक्षिण पश्चिमी बंदरगाह शहर, ग्वादर में एक पुलिस जाच चौकी पर रॉकेट के जरिये किए गए हमले में आठ सुरक्षाकर्मी मारे गए गए और तीन अन्य घायल हो गए। जियो न्यूज के अनुसार, मोटरसाइकिल पर सवार सात आतंकियों ने यह हमला अपराह्न लगभग एक बजे किया।पश्चिमोत्तर खैबर पख्तूनख्वा प्रात के ऊपरी दीर क्षेत्र में एक वाहन को रिमोट कंट्रोल नियंत्रित बम से उड़ा दिया गया, जिससे वाहन में सवार तीन लोगों की मौत हो गई। पुलिस प्रमुख एहसानुल्ला खान ने बताया कि विस्फोट धोग डेरा कस्बे के पास हुआ। सिंध प्रात के शिकारपुर कस्बे में दो जातियों के बीच हुए संघर्ष में एक बच्चे सहित पाच लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि दो प्रतिद्वंद्वी जातियों ने एक-दूसरे पर गोलीबारी की। पास से गुजर रहा एक बच्चा भी उसकी चपेट में आकर जान गंवा बैठा।