19 February 2019



खेलकूद
डेथ ओवरों की गेंदबाजी में सुधार की जरूरत
23-07-2012

हंबानटोटा। टीम इंडिया के कप्तान महेद्र ¨सह धौनी भले ही श्रीलंका के खिलाफ पांच एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला जीत गए हों इसके बावजूद उन्हे लगता है कि उनकी टीम को अंतिम ओवरों की गेंदबाजी में सुधार की जरूरत है।महिंदा राजपक्षे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में शनिवार को खेले गए सीरीज के पहले मुकाबले में भारत ने श्रीलंका को 21 रनों से हरा दिया। इस प्रकार भारतीय टीम सीरीज में 1-0 से आगे हो गई है।धौनी ने जीत के बाद कहा कि हमारे लिए डेथ ओवरों की गेंदबाजी में सुधार की जरूरत है। जहीर खान ने अच्छी गेंदबाजी की। इरफान की अच्छी गेंदबाजी एक सकारात्मक चीज रही।उल्लेखनीय है कि भारतीय टीम लंबे समय बाद कोई अंतरराष्ट्रीय सीरीज खेल रही है। भारत ने अंतिम बार दक्षिण अफ्रीका के साथ मार्च में अंतरराष्ट्रीय सीरीज खेला था। इसके बाद भारतीय खिलाड़ी आइपीएल के पांचवें संस्करण में व्यस्त हो गए थे, जिसके बाद से उन्हे आराम करने का काफी समय मिला।धौनी इस मुकाबल में पांच गेंदबाज के साथ उतरे थे। उन्होंने हरफनमौला रवींद्र जडेजा और युवराज सिंह को याद करते हुए कहा कि जडेजा और युवराज के बिना दोनों विभाग में टीम को संतुलित करना मुश्किल है इसलिए यह महत्वपूर्ण था। युवा गेंदबाजों के लिए सीखने का यह अच्छा मौका है।भारत की ओर से विराट कोहली ने 106 जबकि वीरेद्र सहवाग ने 96 रनों की पारी खेली। धौनी ने कोहली और सहवाग के बारे में कहा कि सहवाग और कोहली ने अच्छी बल्लेबाजी की। निचले क्रम में हमारे पास आक्रमकता की कमी है।