19 February 2019



खेलकूद
श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे मैच आज
24-07-2012

हंबनटोटा। नए सत्र की शुरुआत जीत के साथ करने के बाद भारतीय टीम मंगलवार को श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे मैच में जीत की लय बरकरार रखने के इरादे से उतरेगी। भारत ने विराट कोहली की क्0म् और अनुभवी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग की 96 रन की पारी की बदौलत पहले वनडे में श्रीलंका पर ख्क् रन की जीत दर्ज की थी।महिंदा राजपक्षे स्टेडियम में पहले वनडे की पिच पूरी तरह से सीमित ओवरों के मैचों के लिए मुफीद थी, जहां बल्लेबाजों के पास जमने के बाद अच्छी पारी खेलने का मौका था। यह विकेट टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने के अनुकूल थी और भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने भी ऐसा ही किया। हालांकि शुरुआत में तेज हवाओं के कारण गेंदबाजों को गेंद को स्विंग कराने में मदद मिली, लेकिन कुल मिलाकर हालात बल्लेबाजों के अनुकूल थे।मंगलवार को एक बार फिर सभी की नजरें विराट कोहली पर टिकी होंगी, जो शानदार फॉर्म में हैं और अपने पिछले पांच मैचों में चार शतक जड़ चुके हैं। सत्र के पहले ही मैच में शतक बनाने से कोहली का आत्मविश्वास भी बढ़ा होगा। सहवाग के साथ भी ऐसा ही है। पहले मैच में सस्ते में पवेलियन लौटने वाले गौतम गंभीर पिछले मैच की निराशा को भुलाने के इरादे के साथ उतरेंगे। सुरेश रैना और कप्तान धौनी सीमित ओवरों के मैचों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने में सफल रहे हैं और अंतिम ओवरों में इनका बहुमूल्य योगदान निश्चित तौर पर काफी अंतर पैदा करता है।रोहित शर्मा की उतार-चढ़ाव भरी फॉर्म भारतीय टीम के लिए चिंता का सबब हो सकती है। यह बल्लेबाज अपने त्तक् वनडे मैचों के करियर में अपनी प्रतिभा के मुताबिक नहीं खेल पाया है और अब उसने सिर्फ दो शतक जड़े हैं। रोहित फ्ख् से कुछ अधिक के अपने औसत से भी निराश होंगे और उन्हें आगामी मैचों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करने पर ध्यान देना होगा। वैसे इस बात की संभावना नहीं लगती कि भारत अगले कुछ मैचों में अपनी अंतिम एकादश में कोई बदलाव करेगा, बशर्ते कोई खिलाड़ी चोटिल नहीं हो। पिछले मैच में धीमी ओवर गति के लिए सजा पाने वाले कप्तान धौनी अपने गेंदबाजों से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे होंगे। ऑलराउंडर इरफान पठान की मौजूदगी ने टीम को जरूरी संतुलन प्रदान किया है। वरिष्ठ तेज गेंदबाज जहीर खान और युवा उमेश यादव ने पहले मैच में अधिक रन खर्च किए थे और इन्हें किफायती गेंदबाजी करने पर ध्यान देना होगा। पिछले मैच में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज थे और उन्होंने बीच के ओवरों में श्रीलंकाई बल्लेबाजों पर लगाम कसकर रखी थी।भारत के लिए एक और अच्छी खबर हो सकती है। हाल के समय में श्रीलंका की ओर से लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाले तेज गेंदबाज नुवान कुलशेखरा ग्रोइन की चोट के कारण सीरीज से बाहर हो गए हैं। पहले वनडे में कैच लपकने का प्रयास करने के दौरान उन्हें यह चोट लगी थी। उनकी जगह नुवान प्रदीप को बुलाया गया है। प्रदीप ने अब तक तीन टेस्ट मैच खेले हैं, जबकि उन्हें वनडे अंतरराष्ट्रीय मैचों में पदार्पण करने का अब भी इंतजार है। भारत को इसके अलावा शानदार फॉर्म में चल रहे कुमार संगकारा का भी तोड़ निकालना होगा, जिन्होंने पिछले मैच में क्फ्फ् रन की पारी खेली थी। पहले मैच में जल्दी आउट होने वाले सलामी बल्लेबाज तिलकरत्ने दिलशान और कप्तान महेला जयव‌र्द्धने अच्छी पारी खेल अपनी टीम को जीत दिलाने की ओर देख रहे होंगे।