19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
पुलिस अधिकारियों ने किया तालिबान का रुख
25-07-2012

काबुल। अफगानिस्तान के पश्चिमी प्रांत फराह में एक पुलिस कमांडर और 13 जूनियर अधिकारियों ने तालिबान से हाथ मिला लिया है। ये अधिकारी अपने साथ भारी हथियार, रेडियो उपकरण और पुलिस की गाड़ियां जिनमें अमेरिका में बनी हम्वीज शामिल थीं ले गए हैं। पश्चिमी अफगानिस्तान में हालांकि शाति रहती है, लेकिन फराह काफी अशांत क्षेत्र है।अफगानिस्तान में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में पुलिस अधिकारियों ने तालिबान का रुख किया है। तालिबान से हाथ मिलाने वाला पुलिस कमांडर मीरवाइस बाला बुलक जिले के शेवान गांव में जिस चेक प्वाइंट का इंचार्ज था वहां करीब 20 पुलिसकर्मी तैनात थे। ये क्षेत्र हाल तक तालिबान का गढ़ माना जाता था। अफगान सुरक्षाबलों ने कई कार्रवाइयों के बाद तालिबान लड़ाकों को यहां से खदेड़ दिया लेकिन स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि इलाके में चरमपंथी दोबारा एकत्रित हो रहे हैं।पुलिस और गुप्तचर विभाग के अधिकारियों के अनुसार कमाडर ने अपने साथियों को तालिबान में शामिल होने के उकसाया। फगान गुप्तचर विभाग के एक अधिकारी ने कहा, कि मीरवाइस और उनके साथी करीब ढाई साल पहले पुलिस विभाग में शामिल हुए थे और काफी समय तक उन्होंने चरमपंथियों के साथ लड़ाई लड़ी।अधिकारी ने कहा, तालिबान से हाथ मिलाने से बहुत पहले से ही वे तालिबान को गुप्त जानकारियां भी देते होंगे।तालिबान लड़ाकों के लिए हम्वीज गाड़ियां प्रतीकात्मक रूप से बहुत महत्वपूर्ण हैं, लेकिन ये गाड़ियाँ बहुत उपयोगी भी हैं। हम्वीज उबड़-खाबड़ जमीन पर आसानी से सफर कर लेती हैं।स्थानीय अधिकारियों के तालिबान से हाथ मिलाने की घटनाएं पिछले कुछ सालों में कंधार, हेलमंद, जाबुल, उरुजगान, घोर, फराह, बादघिस और हेरात प्रातों में भी हुई हैं, लेकिन स्थानीय मीडिया इसको ज्यादा तवज्जो नहीं देता।