17 February 2019



प्रादेशिक
राष्ट्रपति द्वारा पहले भाषण में किसानों के प्रति चिन्ता उत्साहवर्धक -चौहान
26-07-2012
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राष्ट्रपति का पद ग्रहण करने पर श्री प्रणव मुखर्जी को प्रदेशवासियों और स्वयं की ओर से हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ दी।मुख्यमंत्री ने अपने बधाई पत्र में श्री मुखर्जी को लिखा कि उनके द्वारा राष्ट्रपति के रूप में अपने प्रथम भाषण में किसानों के प्रति चिन्ता व्यक्त किया जाना देश के किसानों और किसानों के शुभचिन्तकों के लिये अत्यंत हर्ष का विषय है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पाला और शीत लहर को प्राकृतिक आपदा घोषित करने के संबंध में उनके द्वारा उठाई गई माँग के परीक्षण के लिये केन्द्र सरकार ने जिस मंत्री समूह का गठन किया था, उसके अध्यक्ष श्री मुखर्जी थे। इस मंत्री समूह के निर्णय को केन्द्र सरकार द्वारा किसानों के हित में स्वीकार कर लिया गया है। यह इसलिये हो सका क्योंकि श्री मुखर्जी किसानों की वास्तविक समस्याओं तथा मुद्दों को सही स्वरूप में समझते हैं। उन्होंने कहा कि देश के बेहतर भविष्य के लिये शुभ संकेत है।मुख्यमंत्री ने श्री मुखर्जी का ध्यान खादों की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि रोकने और एक समग्र फसल बीमा योजना लागू करने की ओर भी आकर्षित किया। मुख्यमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि श्री मुखर्जी के मार्गदर्शन में किसानों के लिये बेहतर सामाजिक सुरक्षा व्यवस्था लागू होगी।मुख्यमंत्री ने अपने बधाई पत्र में कहा कि श्री प्रणव मुखर्जी जैसे महान राजनेता द्वारा देश का सर्वोच्च पद सुशोभित करना सभी देशवासियों के लिये गर्व और हर्ष का विषय है। मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश वासियों और स्वयं की ओर से राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को मध्यप्रदेश पधारने का आमंत्रण भी दिया।