19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
नाटो बलों के लिए रसद आपूर्ति मार्गो पर वाहनों की आवाजाही पर रोक
27-07-2012

पेशावर। पाकिस्तान ने हमलों की आशंका के मद्देनजर पश्चिमोत्तर सीमा से अफगानिस्तान में तैनात उत्तर अटलांटिक संधि संगठन नाटो बलों के लिए फिलहाल रसद आपूर्ति मार्गो पर वाहनों की आवाजाही रोक दी है। पेशावर के निकट जमरूद कस्बे में बंदूकधारियों द्वारा गत मंगलवार को एक नाटो चालक की हत्या किए जाने के बाद यह निर्णय लिया गया। हमलावरों ने नाटो के लिए रसद आपूर्ति वाले ट्रकों के एक काफिले पर हमला कर दिया था जिसमें एक ट्रक चालक की मौत हो गई। नाटो आपूर्ति मार्गो के सात महीने तक बंद रहने के बाद इनकी दोबारा बहाली के बाद इस तरह की यह पहली घटना है।स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी बख्तियार खान ने गुरूवार को इस बात की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि खुफिया विभाग द्वारा और हमलों की आशंका जताए जाने के बाद सुरक्षा कारणों से अस्थाई तौर पर नाटो आपूर्ति मार्गो को निलंबित किया गया है। खुफिया अधिकारियों ने स्थानीय सुरक्षा एजेंसियों को चेताया है कि इस हफ्ते नाटो वाहनों को फिर निशाना बनाया जा सकता है। इसी के मद्देनजर सुरक्षा-व्यवस्था पुख्ता करने के मकसद से नाटो आपूर्ति मार्गोंपर फिलहाल यातायात को रोक दिया गया है। खान ने बताया कि बहुत जल्द इन मार्गो को खोल दिया जाएगा। एक संसदीय अधिकारी ने बताया कि जमरूद कस्बे की घटना को गंभीरता से लेते हुए सुरक्षा-व्यवस्था बढ़ाने के मकसद से गत बुधवार शाम से ही पश्मिोत्तर सीमावर्ती क्षेत्र में नाटो मार्गो पर वाहनों का परिचालन बंद है। उन्होंने कहा कि हमने जमरूद के आसपास पहाडियों में तलाशी अभियान तेज कर दिया है। एक नाटो ट्रक चालक अमनुल्लाह खान ने पेशावर में कहा कि हमें स्थानीय प्रशासन की तरफ से यहां इंतजार करने के लिए कहा गया है। जमरूद कस्बे में हुई गोलीबारी की घटना के बादइलाके में पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए हमें यहां रोका गया है। मार्ग बंद करने से इससे केवल तोरखम चौराहा ही प्रभावित है। नाटो ट्रकों की जांच करने वाले एक एजेंट अशरफ खान ने बताया कि चमान में दक्षिण-पश्चिम चौराहे पर 17 जबकि क्वेटा में 20 नाटो ट्रक अफगानिस्तान में प्रवेश करने के लिए क्लीयरिंग का इंतजार कर रहे हैं। पश्चिमोत्तर क्षेत्र के तोरखम चौराहे पर गत बुधवार को अधिकारियों ने बताया कि आपूर्ति मार्ग खुलने के बाद से पहला मौका है जब इन रास्तों पर वाहनों की आवाजाही देखी जा रही है। हाल ही के दिनों में इस चौराहे से 100 से ज्यादा वाहन गुजर चुके हैं। गौरतलब है कि पिछले साल 26 नवम्बर को अमेरिकी हवाई हमलें में 24 पाक सैनिकों की मौत के बाद इस्लामाबाद ने अपने क्षेत्र से नाटो आपूर्ति मार्गो को रोक दिया था। अमेरिका के गलती मानने के बाद हाल ही में इन मार्गो को दोबारा खोला गया था।