22 February 2019



राष्ट्रीय
अन्ना का रामदेव की टिप्पणी का करारा जवाब
28-07-2012

नई दिल्ली। जंतर-मंतर पर हो रहे टीम अन्ना के आंदोलन में ज्यादा भीड़ नहीं जुट पा रही है। इसको लेकर मीडिया व सरकार में उनकी किरकिरी हो रही है। ऐसे में बाबा रामदेव की टिप्पणी का करारा जवाब देते हुए समाजसेवी अन्ना हजारे ने कहा कि अगर आंदोलन में पांच लोग भी हों, तब भी आंदोलन सफल होगा और हम अंतिम सांस तक अनशन जारी रखेंगे। उन्होंने साफ कहा कि भीड़ किसी भी आंदोलन को प्रभावित नहीं कर सकती है।यह जवाब उन्होंने शुक्रवार को रामदेव द्वारा की गई उस टिप्पणी के बाद किया है जिसमें रामदेव ने कहा था कि एक आंदोलन को सफल बनाने के लिए कम से कम एक करोड़ लोगों का समर्थन चाहिए होता है।अन्ना की इस टिप्पणी से यह बात तो साफ हो गई है कि आंदोलन में कम भीड़ के चलते अन्ना किसी भी कीमत पर निराश नहीं है। उनका मनोबल अब भी उतना ही तगड़ा बना हुआ है। जनता अपना उम्मीदवार चुनें शुक्रवार को अन्ना हजारे ने चुनावी राजनीति में सीधे प्रवेश करने के संकेत दे दिए, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने जनता से अपील की है कि वह खुद अपनी पसंद से लोगों को चुनाव के लिए खड़ा करें। ताकि जो भी नेता आगे चुनाव जित कर आएं वह भ्रष्टाचार मुक्त हो। फिर रविशंकर ने रोका अन्ना का रास्ता दूसरी ओर पंडित रविशंकर अन्ना हजारे के इस अनशन को खत्म करवाना चाहते हैं। एक बार फिर वह अन्ना के आंदोलन के बीच आ रहे हैं। उन्होंने अन्ना से अपनी सेहत का ध्यान रखते हुए अनशन खत्म करने की अपील की है। रामदेव का आंदोलन हिला देगा सरकार की जड़ें  योगगुरु बाबा रामदेव ने केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए दावा किया है कि नौ अगस्त को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाला बाबा का आदोलन केंद्र सरकार की जड़े हिला देगा। रामदेव ने कहा कि वह पूरी कोशिश में है कि उनका आंदोलन अन्ना हजारे के आदोलन से बड़ा हो। इसके लिए वह जोरों से तैयारियां कर रहे हैं। पहले दिन कम से कम 50 हजार से अधिक लोगों को रामलीला मैदान में जुटाने की योजना बनाई जा रही है। उसके बाद प्रतिदिन 20 से 25 हजार की भीड़ मैदान में रहेगी। अपने आंदोलन को सफल बनाने के लिए बाबा रामदेव टीम अन्ना की तैयारियों पर भी नजर रख रहे हैं।पिछले वर्ष जून में हुए आदोलन से सिख लेते हुए बाबा ने अपनी रणनीति बदल दी है। गत वर्ष उन्होंने एक साथ पूरे देश से लोगों को दिल्ली आमंत्रित किया था, लेकिन इस बार दिल्ली से सटे हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान पर बाबा ने विशेष जोर दिया है।सूत्रों के अनुसार इस संबंध में बाबा के स्वाभिमान ट्रस्ट और पतंजलि ने करीब एक लाख लोगों के रेलवे रिजर्वेशन करा दिए हैं।