19 February 2019



अंतरराष्ट्रीय
पाक जालसाजी के मामले में विश्व में अग्रणी
28-07-2012

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में ब्रिटेन के उच्चायुक्त एडम थॉमसन ने पाकिस्तान को वीजा और पासपोर्ट की जालसाजी के मामले में विश्व में अग्रणी बताया है। उनका कहना है कि पाकिस्तान में नकली वीजा के कारोबार की जड़ें बहुत गहरी हैं। थॉमसन ने कहा, पिछले वर्ष नकली दस्तावेजों का प्रयोग कर ब्रिटिश पासपोर्ट हासिल करने का प्रयास करने वाले करीब 4000 लोगों को पकड़ा गया था। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि पाकिस्तान को विश्व में वीजा जालसाजी के मामले में सबसे ऊपर बताया गया है। हालाकि थॉमसन ने पाकिस्तान सरकार के वीजा जारी करने की पद्धति पर संतोष व्यक्त किया है। साथ ही, कहा कि विश्व में पासपोर्ट और वीजा जारी करने की किसी भी पद्धति के अचूक होने का दावा नहीं किया जा सकता है। कभी-कभी चूक हो सकती है।द सन द्वारा पाकिस्तान में फर्जी पासपोर्ट मामले के रहस्योद्घाटन का हवाला देते हुए उच्चायुक्त ने कहा कि मैं अखबार के सत्य को निर्धारित करने वाला व्यक्ति नहीं हूं। उन्होंने कहा कि ब्रिटिश अधिकारियों को पाकिस्तान के ओलंपिक दल के साथ आए सदस्यों में से किसी के नकली पासपोर्ट पर यात्रा करने के संबंध में जानकारी नहीं है।उन्होंने कहा कि यात्रा के लिए स्वीकृति प्राप्त करना एक लंबी प्रक्रिया है, इसके लिए कई महीने से जाच चलती है। खेल प्रारंभ होने से कुछ समय पहले दल का सदस्य बनना लगभग असंभव है। अखबार ने हाल में लाहौर में एक गिरोह का पर्दाफाश किया था, जो जाली पासपोर्ट और अन्य दस्तावेज जारी करता है।